Aaina Shayari आइना शायरी हिंदी में (2022-23)

Aaina Shayari In Hindi | आईना शायरी हिंदी में

Aaina Shayari In Hindi (आईना हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Aaina Shayari In Hindi | आईना शायरी हिंदी में Aaina Shayari In Hindi (आईना हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Aaina Shayari
यही आइना है वो आईना जो लिए है जल्वा ए आगही
ये जो शाएरी का शुऊर है ये पयम्बरी की तलाश है

आईना आईना तैरता कोई अक्स
और हर ख्वाब में दूसरा ख्वाब है

बनाया तोड़ के आईना आईना खाना
न देखी राह जो खल्वत से अंजुमन की तरफ

वो आइना तन आईना फिर किस लिए देखे
जो देख ले मुँह अपना हर इक उ ज्व ए बदन में

बहुत हैरत जदा है आइना भी
कि चेहरे पर कोई चेहरा नहीं है

करीब ए मर्ग हूँ लिल्लाह आईना रख दो
गले से मेरे लिपट जाओ फिर निखर लेना

आईना कभी काबिल ए दीदार न होवे
गर खाक के साथ उस को सरोकार न होवे

आइना देख के खुर्शीद पे करते हैं नजर
फिर छुपा लेते हैं वो चेहरा ए अनवर अपना

जरा सी देर तुझे आइना दिखाया है
जरा सी बात पर इतने खफा नहीं होते

देखना अच्छा नहीं जानू पे रख कर आइना
दोनों नाजुक हैं न रखियो आईने पर आइना

हटाओ आइना उम्मीद वार हम भी हैं
तुम्हारे देखने वालों में यार हम भी हैं

बहुत खुश हुए आईना देख कर
यहाँ कोई सानी हमारा न था

आईना दिल का तोड़ के कहता है संग जन
दिल तेरा तोड़ कर मुझे अच्छा नहीं लगा

आईना कैसा था वो शाम ए शकेबाई का
सामना कर न सका अपनी ही बीनाई का

मुद्दत के बा द आइना कल सामने पड़ा
देखी जो अपनी शक्ल तो चेहरा उतर गया

दिल का आईना हुआ जाता है धुँदला धुँदला
कब तिरा अक्स इसे अपनी सफाई देगा

Read Also:Julfe Shayari 
Read Also:Pyaar Shayari 
Read Also:Zulfein Shayari