Aankhen Shayari | आंखें शायरी 124+ best

aankhen shayari khoobsurat … nashili … nashili … in hindi … 2 line teri … in hindi khubsurat …

Aankhen Shayari In Hindi, आंखें शायरी हिंदी में – आज का संग्रह बहुत अहम है। जिसमे आपके लिए Aankhen Shayari लेकर आए है। एंजॉय शायरी की टीम हर संभव कोशिश करती है। आपकी पसंद का ध्यान आकर्षित, और संबंधित स्टेज वाली सामग्री लाने की।

हमने जितने भी आंखें शायरी या उनके इमेज दिए है। उन्हें आपको बिना किसी हिचकिचाहट के शेयर करना है। एवं अपनी उत्सुकता के साथ कॉमेंट करना है। या सब्सक्राइब हेतु अपना आकर्षक स्वरूप दिखाना है।

हमारी टीम के साथ जुड़कर अपने शायरी या स्टेटस को हमारे साथ लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं। तो संपर्क कर सकते हैं। आपको ये सभी Aankhen Shayari Hindi की 2 या 4 लाइन वाली। और अन्य के साथ कनेक्ट किया जा रहा है।

आपका समय अमूल्य है, इसलिए हम आपका ज्यादा समय खराब करेंगे। नीचे कुछ वर्ड के बाद आप अपनी पसंदीदा चयनित शायरियां पढ़ और शेयर कर पाएंगे। लेकिन उससे पहले हमारी सिर्फ सराहनीय। और उत्सुकता भरी अन्य संबधित पोस्ट को पढ़ने के आग्रह को स्वीकार करे और आंखें संबंधित को पढ़कर उसे भी पढ़ने का वादा करें।

Also Read:- Aankhen Status In Hindi
Also Read:- Aansu Shayari In Hindi

Aankhen Shayari In Hindi (हिंदी में आंखें शायरी)

ठीक है, अब आप अपनी जिज्ञासा को जगाए । और हमारी टीम द्वारा प्रस्तुत सभी ये Aankhen Shayri Hindi, आंखें शायरी हिंदी में को पढ़ें;

अदाएं कातिल होती हैं आंखें नशीली होती हैं
मोहब्बत में अक्सर ओंठ सूखे होते है आंखें गीली होती हैं

पल पल तुम्हारी याद सताती है
तुम्हारे इंतजार में आंखें नम हो जाती है
मेरा चेहरा पढ़कर हर कोई कहता है
तुम्हें भी किसी का इंतजार रहता है

दरिया की दहलीज पे ठहरी सोच रही है यह आंखें
कितना वक्त लगेगा आखिर सारे ख्वाब बहाने में

किसी ने मुझसे कहा
तुम्हारी आंखें बहुत प्यारी हैं
मैंने हंसकर कहा
बारिश होने के बाद
अक्सर मौसम हसीन हो जाता है

समुंदर में उतरता हूं तो आंखें भीग जाती हैं
तेरी आंखों को पड़ता हो तो आंखें भीग जाती हैं
तुम्हारा नाम लिखने की इजाजत मिल गई जब से
भी कोई लफ्ज़ लिखता हूं तो आंखें भीग जाती हैं

हया आंखों में हो तो पर्दा दिल का ही काफी है
बेहया आंखें हो तो इशारे नकाब में भी हो जाते हैं

जख्म इतना गहरा है इजहार क्या करें
हम खुद निशाना बन गए वार क्या करें
सो गए हम मगर खुली रही आंखें
इससे ज्यादा हम उनका इंतजार क्या करें