Abbu Shayari अब्बू शायरी हिंदी में (2022-23)

Abbu Shayari In Hindi | अब्बू शायरी हिंदी में

Abbu Shayari In Hindi (अब्बू हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Abbu Shayari In Hindi | अब्बू शायरी हिंदी में  Abbu Shayari In Hindi (अब्बू हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Abbu Shayari अब्बू शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Abbu Shayari
यूँ मत डाँटो अब्बू जी
तुम भी पहले बच्चे ही थे ये मत भूलो अब्बू

जर्ब उल अमसाल
अब्बू हम को डाँट रहे थे
अप्पी को रोना आया

मैं डॉक्टर बनूँगा
अब्बू जो रात आए
मुन्नी किताब लाए

Abbu Shayari अब्बू शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

मुन्ने का वा दा
काम करूँगा काम मैं अब्बू
काम करूँगा काम

Abbu Shayari अब्बू शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

अम्मी अब्बू छोटे थे
दिन रात शरारत करते थे
अपने अब्बू से डरते थे

बचप थामे हाथ अपने अब्बू का
कमसिन बच्चा भोला भाला

अब्बू मेरे पास तो आना
इतनी बात मुझे समझाना

अब्बू जान अक्सर कहते थे
सच को जरा मुश्किल आती है

तवज्जोह फरमाइए
हम ने जो ये बात अब्बू से कही
अब्बू ने कहा अम्मी से कहो

कैसी सीधी सादी अम्माँ
अब्बू जब नाराज हों हम से वो अब्बू को डाँटती हैं

क्या खेलें कहाँ खेलें
अब्बू रूठ नहीं जाएँगे
कैरम ला कर खेलो ना

अब्बू दफ्तर से घर आएँ
मूंगफली चिलगोजे लाएँ

तरबूज बाहर से मैं हरा हरा हूँ और अंदर से लाल
अब्बू जब बाजार से आएँ साथ मुझे भी लाएँ

अपने चारों जानिब देखो
अप्पी बेचारी क्या बोले
उस के अब्बू रूठ गए हैं

कहा मम्मी ने ये पप्पू मियाँ से
ये पूछो जा के तुम अब्बू मियाँ से

दीवार की तीन चीजें
जवान खूबसूरत बच्चियों ने
अपने अब्बू के लिए तख्लीक की हैं