अपनापन शायरी | Apnapan Shayari

Apnapan Shayari | अपनापन शायरी

Apnapan Shayari In Hindi | अपनापन शायरी हिंदी में

Apnapan Shayari In Hindi (अपनापन शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Apnapan Shayari In Hindi | अपनापन शायरी हिंदी में  Apnapan Shayari In Hindi (अपनापन शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Apnapan Shayari

हरीफों की तरफ दारी से अपना पन का दम टूटा
बढ़ी कुछ और जब दूरी तो कुर्बत का भरम टूटा

मुझ को ये दर्द विरासत में मिला है दाएम
शायरी कर्ज है मुझ पर जो अदा करता हूँ