Azadi Shayari आज़ादी शायरी हिंदी में (2022-23)

Azadi Shayari In Hindi | आज़ादी शायरी हिंदी में

Azadi Shayari In Hindi (आज़ादी शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Azadi Shayari In Hindi | आज़ादी शायरी हिंदी में Azadi Shayari In Hindi (आज़ादी शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Azadi Shayari आज़ादी शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Azadi Shayari
क्यूँ उजाड़ा जाहिदो बुत खाना ए आबाद को
मस्जिदें काफी न होतीं क्या खुदा की याद को

पागल वहशी तन्हा तन्हा उजड़ा उजड़ा दिखता हूँ
कितने आईने बदले हैं मैं वैसे का वैसा हूँ

शहर ए दिल एक मुद्दत उजड़ा बसा गमों में
आखिर उजाड़ देना उस का करार पाया

Azadi Shayari आज़ादी शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

किस तरह उजड़े सुलगती हुई यादों के दिए
हमदमो दिल के करीब आओ रुको और सुनो

Azadi Shayari आज़ादी शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

कौन पस ए मंजर में उजड़े पैकरों को देखता
शहर की नजरें लिबास ए खुशनुमा में खो गईं

हो गई है मिरी उजड़ी हुई दुनिया आबाद
मैं उसे ढूँढ रहा हूँ ये बताने के लिए

दिल के उजड़े नगर को कर आबाद
इस डगर को भी कोई राही दे

दिल उजड़ी हुई एक सराए की तरह है
अब लोग यहाँ रात जगाने नहीं आते

उजड़े हैं कई शहर, तो ये शहर बसा है
ये शहर भी छोड़ा तो किधर जाओगे लोगो

रात इक उजड़े मकाँ पर जा के जब आवाज दी
गूँज उट्ठे बाम ओ दर मेरी सदा के सामने

लगता नहीं है दिल मिरा उजड़े दयार में
किस की बनी है आलम ए ना पाएदार में

भूली नहीं उजड़े हुए गुलशन की बहारें
हाँ याद हैं वो दिन कि हमारा भी खुदा था

दिल की उजड़ी हुई हालत पे न जाए कोई
शहर आबाद हुए हैं इसी वीराने से

आजादी की धूमें हैं शोहरे हैं तरक्की के
हर गाम है पस्पाई हर वज्अ गुलामाना

 

Yaar Shayari यार शायरी हिंदी में (2022-23)

तुम से बिछड़े दिल को उजड़े बरसों बीत गए
आँखों का ये हाल है अब तक कल की बात लगे

अपनी उजड़ी हुई दुनिया की कहानी हूँ मैं
एक बिगड़ी हुई तस्वीर ए जवानी हूँ मैं

इन उजड़ी बस्तियों का कोई तो निशाँ रहे
चूल्हे जलें कि घर ही जलें पर धुआँ रहे

ढूँड उजड़े हुए लोगों में वफा के मोती
ये खजाने तुझे मुमकिन है खराबों में मिलें

नहीं काँटे भी क्या उजड़े चमन में
कोई रोके मुझे मैं जा रहा हूँ

नहीं दुनिया में आजादी किसी को
है दिन में शम्स और शब को कमर बंद

Chhota Shayari छोटा शायरी हिंदी में (2022-23)

Google Shayari | गूगल शायरी 982+