Chai Shayari चाय शायरी हिंदी में (2022-23)

Chai Shayari In Hindi | चाय शायरी हिंदी में

Chai Shayari In Hindi (चाय शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Chai Shayari In Hindi | चाय शायरी हिंदी में Chai Shayari In Hindi (चाय शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Chai Shayari चाय शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Chai Shayari
जरा सी चाय गिरी और दाग दाग वरक
ये जिंदगी है कि अखबार का तराशा है

कई झमेलों में उलझी सी बद मजा चाय
उदास मेज पे दफ्तर के कागजात का दुख

छोड़ आया था मेज पर चाय
ये जुदाई का इस्तिआरा था

Chai Shayari चाय शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

आज फिर चाय बनाते हुए वो याद आया
आज फिर चाय में पत्ती नहीं डाली मैं ने

Chai Shayari चाय शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

सिगरटें चाय धुआँ रात गए तक बहसें
और कोई फूल सा आँचल कहीं नम होता है

इक हाथ में मेरे चाय का कप इक हाथ में मेरे हाथ तिरा
हाथों को तलब है हाथों की और दिल को तलब है साथ तिरा

शबान ए हिज्राँ दराज चूँ जुल्फ रोज ए वसलत चू उम्र कोताह
सखी पिया को जो मैं न देखूँ तो कैसे काटूँ अँधेरी रतियाँ

वो बज्म में हैं रोते हैं उश्शाक चौ तरफ
पानी है गिर्द ए अंजुमन और अंजुमन में आग

चूँ शम ए सोजाँ चूँ जर्रा हैराँ जे मेहर ए आँ मह बगश्तम आखिर
न नींद नैनाँ न अंग चैनाँ न आप आवे न भेजे पतियाँ

घी मिस्री भी भेज कभी अखबारों में
कई दिनों से चाय है कड़वी या अल्लाह

बिखरता जाता है कमरे में सिगरटों का धुआँ
पड़ा है ख्वाब कोई चाय की प्याली में

कुमकुमों की तरह कहकहे जल बुझे
मेज पर चाय की प्यालियाँ रह गईं

दर ओ दीवार ए चमन आज हैं खूँ से लबरेज
दस्त ए गुल चीं से मबादा कोई दिल टूटा है

चमन पे गारत ए गुल चीं से जाने क्या गुजरी
कफस से आज सबा बे करार गुजरी है

न पोंछो मेरे आँसू तुम न पोंछो
कहेगा कोई तुम को खोशा चीं है

तुझ में कस बल है तो दुनिया को बहा कर ले जा
चाय की प्याली में तूफान उठाता क्या है

आज तो जैसे दिन के साथ दिल भी गुरूब हो गया
शाम की चाय भी गई मौत के डर के साथ साथ

चुपके से सह रहा हूँ सितम तेरे बेवफा
मेरी खता तो जब हो कि चूँ कर रहा हूँ मैं

Read More :Safai Shayari
Read More :Sad Shayari
Read More :Sad Quotes

Leave a Comment

Your email address will not be published.