Chidiya Shayari चिड़िया शायरी हिंदी में (2022-23)

Chidiya Shayari In Hindi | चिड़िया शायरी हिंदी में

Chidiya Shayari In Hindi (चिड़िया शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Chidiya Shayari In Hindi | चिड़िया शायरी हिंदी में Chidiya Shayari In Hindi (चिड़िया शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Chidiya Shayari

किसी सय्याद की पड़ जाए न चिड़िया पे नजर
आप सरकाएँ न महरम से दुपट्टा अपना

बोल उठती कभी चिड़िया जो तिरी अंगिया की
खुश नवाई की न यूँ जीतती बुलबुल पाली

तक रहा है ये कोई सोने की चिड़िया आ फँसे
दाम ए सुब्हा ले के जाहिद गिर्या ए मिस्कीं की तरह

पर तोल के बैठी है मगर उड़ती नहीं है
तस्वीर से चिड़िया को उड़ा देना चाहिए

वो जाता रहा और मैं कुछ बोल न पाया
चिड़ियों ने मगर शोर सा दीवार पे खींचा

कल रात जो ईंधन के लिए कट के गिरा है
चिड़ियों को बहुत प्यार था उस बूढे शजर से

सातों आलम सर करने के बा द इक दिन की छुट्टी ले कर
घर में चिड़ियों के गाने पर बच्चों की हैरानी देखो

जब कभी मस्की कटोरी क्या सदा पैदा हुई
करती है अंगिया की चिड़िया चहचहाने की हवस

बंद महरम के वो खुलवातें हैं हम से बेशतर
आज कल सोने की चिड़िया है हमारे हाथ में

ये निगल जाएगी इक दिन तिरी चौड़ाई चर्ख
गर कभू तुझ से जमीं हम ने भी नपवाई चर्ख

मैं ने उन सब चिड़ियों के पर काट दिए
जिन को अपने अंदर उड़ते देखा था

अब तो चुप चाप शाम आती है
पहले चिड़ियों के शोर होते थे

Read More :Sorry Quotes
Read More :Smile Shayari
Read More :Sister Status