Faasla Shayari फासला शायरी हिंदी में (2022-23)

Faasla Shayari In Hindi | फासला शायरी हिंदी में

Faasla Shayari In Hindi (फासला शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Faasla Shayari In Hindi | फासला शायरी हिंदी में Faasla Shayari In Hindi (फासला शायरी हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Faasla Shayari फासला शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Faasla Shayari
यकीं से जो गुमाँ का फासला है
जमीं से आसमाँ का फासला है

सब का खुशी से फासला एक कदम है
हर घर में बस एक ही कमरा कम है

अब के जुनूँ में फासला शायद न कुछ रहे
दामन के चाक और गिरेबाँ के चाक में

Faasla Shayari फासला शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

बड़े लोगों से मिलने में हमेशा फासला रखना
जहाँ दरिया समुंदर से मिला दरिया नहीं रहता

Faasla Shayari फासला शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

दिल ओ निगाह का ये फासला भी क्यूँ रह जाए
अगर तू आए तो मैं दिल को आँख में रख लूँ

एक लम्हे में कटा है मुद्दतों का फासला
मैं अभी आया हूँ तस्वीरें पुरानी देख कर

फिर तू ने दिया है नया फासला मुझे
सर पर अभी तो पिछली मसाफत की धूल है

बीच का बढ़ता हुआ हर फासला ले जाएगा
एक तूफाँ आएगा सब कुछ बहा ले जाएगा

कुर्ब ए बदन से कम न हुए दिल के फासले
इक उम्र कट गई किसी ना आश्ना के साथ

गुरूब ए शाम तो दिन भर के फासले पर है
किरन तुलू की उतरी है जगमगाती फिरे

इक मुसलसल दौड़ में हैं मंजिलें और फासले
पाँव तो अपनी जगह हैं रास्ता अपनी जगह

इस कदर बढ़ने लगे हैं घर से घर के फासले
दोस्तों से शाम के पैदल सफर छीने गए

फिर उस के ब अद तअल्लुक में फासले होंगे
मुझे सँभाल के रखना बिछड़ न जाऊँ मैं

जेहन ओ दिल के फासले थे हम जिन्हें सहते रहे
एक ही घर में बहुत से अजनबी रहते रहे

फासला रख के भी क्या हासिल हुआ
आज भी उस का ही कहलाता हूँ मैं

हम ने हजार फासले जी कर तमाम शब
इक मुख्तसर सी रात को मुद्दत बना दिया

फासलों में रहा कुर्बतों का गुमाँ
कुर्बतों में कहीं फासला रह गया

अच्छे हैं फासले के ये तारे सजाते हैं
जितना करीब जाओ नजर दाग आते हैं

लोग मोहतात हैं रवय्यों में
कुर्बतों में भी फासला है यहाँ

Read More :Valentines Day Quotes
Read More :Urdu Shayari
Read More :Ummeed Shayari