Fasle Shayari (2022-23)

Fasle Shayari In Hindi | फासले शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Fasle Shayari In Hindi | फासले शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Fasle Shayari
मुद्दतों में आज दिल ने फैसला आखिर दिया
खूब सूरत ही सही लेकिन ये दुनिया झूट है

फकत निगाह से होता है फैसला दिल का
न हो निगाह में शोखी तो दिलबरी क्या है

क्या फैसला दिया है अदालत ने छोड़िए
मुजरिम तो अपने जुर्म का इकबाल कर गया

वक्त कर देगा फैसला इस का
कौन सच्चा है कौन झूटा है

मोहब्बत बुत कदे में चल के उस का फैसला कर दे
खुदा मेरा खुदा है या ये मूरत है खुदा मेरी

मिरे जुर्म ए वफा का फैसला कुछ इस तरह होगा
सजा का हुक्म फौरी और समाअत सरसरी होगी

इस फैसले से खुश हैं अफराद घर के सारे
अपनी खुशी से कब मैं घर से निकल रहा हूँ

इस फैसले पे लुट गई दुनिया ए ए तिबार
साबित हुआ गुनाह गुनहगार के बगैर

हुजूर आप कोई फैसला करें तो सही
हैं सर झुके हुए दरबार भी लगा हुआ है

फैसला थे वक्त का फिर बे असर कैसे हुए
सच की पेशानी पे हम झूटी खबर कैसे हुए

मैं फैसले की घड़ी से गुजर चुकी हूँ मगर
किसी का दीदा ए हैराँ मिरी तलाश में है

तुझे भुला देंगे अपने दिल से ये फैसला तो किया है लेकिन
न दिल को मालूम है न हम को जिएँगे कैसे तुझे भुला के

अब हवाएँ ही करेंगी रौशनी का फैसला
जिस दिए में जान होगी वो दिया रह जाएगा

उजलत के अलाव में किए फैसले आबिद
अब सोच की बर्फानी खड़ाऊँ पे खड़े हैं

मुमकिना फैसलों में एक हिज्र का फैसला भी था
हम ने तो एक बात की उस ने कमाल कर दिया

कुबूल कैसे करूँ उन का फैसला कि ये लोग
मिरे खिलाफ ही मेरा बयान माँगते हैं

सवाल करने के हौसले से जवाब देने के फैसले तक
जो वक्फा ए सब्र आ गया था उसी की लज्जत में आ बसा हूँ

Read More :Yad Shayari
Read More :Yaari Status
Read More :Yaari Shayari