गम भरी शायरी | Gam Bhari Shayari

Gam Bhari Shayari | इंटरनेट पर गम भरी शायरियां ढूंढ रहे हैं। ऐसे में हमने आपके लिए कुछ ऐसी गम भरी शायरियां लेकर आए हैं। जिन्हें आप आसानी से पढ़ पाएंगे। और यदि आपको लगाए तो आप इन्हें व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर भी कर सकते हैं।	 Gam Bhari Shayari

ताकि आप शायरी के माध्यम से अपने गम को लोगों तक पहुंचा सके या फिर किसी के गम को आसानी से इन शायरियों (Gam Bhari Shayari) को पढ़कर जान सके।

 

खुद ही रोए और खुद ही चुप हो गए,
ये सोचकर की कोई अपना होता तो रोने ना देता!!

 

जरा सी गलतफहमी पर
न छोड़ो किसी अपने का दामन
क्योंकि जिंदगी बीत जाती है
किसी को अपना बनाने में

 

आँसू भी आते हैं और
दर्द भी छुपाना पड़ता है
ये जिंदगी है साहब यहां
जबरदस्ती भी मुस्कुराना पड़ता है।

 

अदाएं कातिल होती हैं
आँखें नशीली होती हैं,
मोहब्बत में अक्सर होंठ सूखे होते हैं
और आँखे गीली होती हैं।

 

खुद ही रोए और खुद ही चुप हो गए,
ये सोचकर की कोई अपना होता तो रोने ना देता!!

 

जरा सी गलतफहमी पर
न छोड़ो किसी अपने का दामन
क्योंकि जिंदगी बीत जाती है
किसी को अपना बनाने में

 

आँसू भी आते हैं और
दर्द भी छुपाना पड़ता है
ये जिंदगी है साहब यहां
जबरदस्ती भी मुस्कुराना पड़ता है।

 

अदाएं कातिल होती हैं
आँखें नशीली होती हैं,
मोहब्बत में अक्सर होंठ सूखे होते हैं
और आँखे गीली होती हैं।