Garibi Shayari | गरीबी शायरी 654+

The Real Story Behind Garibi Shayari. 8 Things About Garibi Shayari That You Want… Badly. Garibi Shayari: Are You Prepared For A Good Thing?. Garibi Shayari For Business: The Rules Are Made To Be Broken.

These 13 Inspirational Quotes Will Help You Survive in The Garibi Shayari World. How Important is Garibi Shayari. 10 Expert Quotes. Heard Of The Garibi Shayari Effect? Here It Is.

Is It Time To Talk More ABout Garibi Shayari?. It’s The Side of Extreme Garibi Shayari Rarely Seen, But That’s Why It’s Needed. What You Didn’t Realize About Garibi Shayari Is Powerful – But Extremely Simple.

Garibi Shayari

राहों में कांटे थे फिर भी वो चलना सीख गया,
वो गरीब का बच्चा था हर दर्द में जीना सीख गया।

 

साथ सभी ने छोड़ दिया,
लेकिन ऐ-गरीबी,
तू इतनी वफ़ादार कैसे निकली।

 

घर में चुल्हा जल सकें इसलिए कड़ी धूप में जलते देखा है,
हाँ मैंने ग़रीब की साँसों को भी गुब्बारों में बिक़ते देखा है।

 

गरीबी की भी क्या खूब हँसी उड़ायी जाती है,
एक रोटी देकर 100 तस्वीर खिंचवाई जाती है।

 

थोड़े से लिबास में ख़ुश रहने का हुनर रखते हैं,
हम गरीब हैं साहब,
अलमारी में तो खुद को कैद करते हैं।

 

खुले आसमां के नीचे सोकर भी अच्छे सपने पा लेते है,
हम गरीब है साहेब थोड़े सब्जी में भी 4 रोटी खा लेते है।

 

हर गरीब की थाली में खाना है,
अरे हाँ ! लगता है यह चुनाव का आना है।