Ghutan Shayari (2022-23)

Ghutan Shayari In Hindi | गूटन शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Ghutan Shayari In Hindi | गूटन शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Ghutan Shayari (2022-23) In Hindi

Ghutan Shayari

घुटन तड़पन उदासी अश्क रुस्वाई अकेला पन
बगैर इन के अधूरी इश्क की हर इक कहानी है

नीरज गोस्वामी

Ghutan Shayari (2022-23) हिंदी में

रंज ओ गम ठोकरें मायूसी घुटन बे जारी
मेरे ख्वाबों की ये ता बीर भी हो सकती है

Ghutan Shayari (2022-23) 2 line

घुटन तो दिल की रही कस्र ए मरमरीं में भी
न रौशनी से हुआ कुछ न कुछ हवा से हुआ

खालिद हसन कादिरी

फेंक दे बाहर की जानिब अपने अंदर की घुटन
अपनी आँखों को लगा दे घर की हर खिड़की के साथ

इकबाल नवेद

बहुत घुटन है कोई सूरत ए बयाँ निकले
अगर सदा न उठे कम से कम फुगाँ निकले

किस कयामत की घुटन तारी है
रूह पर कब से बदन तारी है

जकरिय़ा शाज

घुटन से बच के कहीं साँस ले नहीं सकते
जहाँ भी जाएँ ये काला धुआँ तो सर पर है

घुटन सी होने लगी उस के पास जाते हुए
मैं खुद से रूठ गया हूँ उसे मनाते हुए

कोई तो फूल खिलाए दुआ के लहजे में
अजब तरह की घुटन है हवा के लहजे में

नाज उधर दिल को उड़ा लेने की घातों में रहा
मैं इधर चश्म ए सुखन गो तिरी बातों में रहा

Read More :Lord Shiva Quotes
Read More :Diwali Shayari
Read More :Dosti Shayari