Goggle Shayari | गॉगल शायरी 675+

Revolutionize Your Goggle Shayari With These Easy-peasy Tips. How To Turn Your Goggle Shayari From Zero To Hero. Death, Goggle Shayari And Taxes.

The Secret Of Goggle Shayari. World Class Tools Make Goggle Shayari Push Button Easy.. The Untold Secret To Goggle Shayari In Less Than Ten Minutes.

The Untold Secret To Mastering Goggle Shayari In Just 3 Days. Congratulations! Your Goggle Shayari Is (Are) About To Stop Being Relevant.

 Goggle Shayari

प्यार की मासूमियत को वो इस तरह से छुपाती है,
काला चश्मा लगाकर वो हमसे नजरें मिलाती है.

 

दिमाग से सयानी, दिल से वो बच्ची है,
इसलिए चश्में में वो लगती बड़ी अच्छी है.

 

जब तू अपने झील-सी नीली आखों से ये चश्मा हटाएगी,
ना जाने कितने आशिकों की कश्तियाँ उसमें डूब जायेगी.

 

अपनी मासूमियत को बड़ी अदा से दिखाते है,
जब वो चश्मा लगाते है तो बड़ा मुस्कुराते है.

 

उसने फिर नया चश्मा लिया,
लेकिन मेरा प्यार नहीं दिखा.

 

नज़र में दोष हो तो चश्मा लगा सकते है,
नजरिये में दोष हो तो भगवान ही बचा सकते है.