Gumsum Shayari (2022-23)

Gumsum Shayari In Hindi | गुमसुम शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Gumsum Shayari In Hindi | गुमसुम शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Gumsum Shayari (2022-23) In Hindi

Gumsum Shayari
गुम सुम सा खड़ा है कोई दरवाजा ए दिल पर
इस शाम का मंजर तो दिल आवेज बहुत है

शहर गुम सुम रास्ते सुनसान घर खामोश हैं
क्या बला उतरी है क्यूँ दीवार ओ दर खामोश हैं

हवा गुम सुम खड़ी है रास्ते में
मुसाफिर सोच में डूबा हुआ है

Gumsum Shayari (2022-23) हिंदी में

उस के हाथ में गुब्बारे थे फिर भी बच्चा गुम सुम था
वो गुब्बारे बेच रहा हो ऐसा भी हो सकता है

Gumsum Shayari (2022-23) 2 line

मैं भी गुम सुम था कोई बात न करने पाया
उस के होंटों पे भी जैसे कोई पहरा देखा

Read More :Baatein Shayari
Read More :Baap Shayari
Read More :Baap Beta Shayari