Hansi Shayari हंसी शायरी हिंदी में (2022-23)

Hansi Shayari In Hindi | हँसी शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Hansi Shayari In Hindi | हँसी शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Hansi Shayari हंसी शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Hansi Shayari
बंद कर के मिरी आँखें वो शरारत से हँसे
बूझे जाने का मैं हर रोज तमाशा देखूँ

जमाने पर हँसे कोई कि रोए
जो होना है वो होता जा रहा है

हँसी है दिल लगी है कहकहे हैं
तुम्हारी अंजुमन का पूछना क्या

Hansi Shayari हंसी शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

जिंदगी की हँसी उड़ाती हुई
ख्वाहिश ए मर्ग सर उठाती हुई

Hansi Shayari हंसी शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

हँसी मजाक की बातें यहीं पे खत्म हुईं
अब इस के बअ द कहानी रुलाने वाली है

हँसी में कटती थीं रातें खुशी में दिन गुजरता था
कँवल माजी का अफ्साना न तुम भूले न हम भूले

आगे आती थी हाल ए दिल पे हँसी
अब किसी बात पर नहीं आती

हँसी में टाल दे फिर से हमारी हर ख्वाहिश
फिर एक बार थपक दे हमारा गाल जरा

ये बे खुदी ये लबों की हँसी मुबारक हो
तुम्हें ये सालगिरह की खुशी मुबारक हो

हँसे भी रोए भी लेकिन न समझे
खुशी क्या चीज है दुनिया में गम क्या

वो लोग जिन की जमाना हँसी उड़ाता है
इक उम्र बअ द उन्हें मो तबर भी करता है

लहजे का रस हँसी की धनक छोड़ कर गया
वो जाते जाते दिल में कसक छोड़ कर गया

जब तलक रहे जीता चाहिए हँसे बोले
आदमी को चुप रहना मौत की निशानी है

तू हँसी ले के मिरी आँख को आँसू दे दे
मुझ से सूखा हुआ दरिया नहीं देखा जाता

हम न कहते थे हँसी अच्छी नहीं
आ गई आखिर रुकावट देखिए

बोसे बीवी के हँसी बच्चों की आँखें माँ की
कैद खाने में गिरफ्तार समझिए हम को

हँसी थमी है इन आँखों में यूँ नमी की तरह
चमक उठे हैं अंधेरे भी रौशनी की तरह

क्या हँसी आती है मुझ को हजरत ए इंसान पर
फेल ए बद खुद ही करें लानत करें शैतान पर

तभी वहीं मुझे उस की हँसी सुनाई पड़ी
मैं उस की याद में पलकें भिगोने वाला था

Read More :Beta Shayari
Read More :Berojgari Shayari
Read More :Berozgar Shayari