आई मिस यू शायरी | I Miss You Shayari

Does Your I Miss You Shayari Goals Match Your Practices?. Five Rookie I Miss You Shayari Mistakes You Can Fix Today. 10 Step Checklist for I Miss You Shayari.

How Much Do You Charge For I Miss You Shayari. Time-tested Ways To I Miss You Shayari. Marketing And I Miss You Shayari. I Miss You Shayari Stats: These Numbers Are Real. 10 Factors That Affect I Miss You Shayari.

Take Home Lessons On I Miss You Shayari. I Miss You Shayari Changes: 5 Actionable Tips. 25 Best Things About I Miss You Shayari. The Impact Of I Miss You Shayari On Your Customers/Followers.I Miss You Shayari

How Did We Get There? The History Of I Miss You Shayari Told Through Tweets. Why It’s Easier To Fail With I Miss You Shayari Than You Might Think. The 5 Secrets To Effective I Miss You Shayari.

 

मेरी हर सांस में तू है मेरी हर ख़ुशी में तू है
 तेरे बिन ज़िन्दगी कुछ नहीं क्योकि मेरी
 पूरी ज़िन्दगी ही तू है
 दो-चार बातें कर ली होती.तनहा़ रात के
कह़र ढानें से पहले,हम यूं ना भीगोंते
तकीये के खिलाफ सुबह हो जाने से पहले.
 मिस यू
पता है तुम्हें, मैं बहुत बातें करता हूँ,
तुम्हारी चाँद से,अक्सर रातों में सच्ची ये
 और बात है,कि मैं बताता नहीं हूँ तुम्हें
 I miss you
तुम्हे ना देख कर कबतक सबर करूँ.
आँखे तो बँद कर लूँ पर इस दिल;
का क्या करूँ. Miss u
काश तुम्हें ख्वाब ही आ जाये,की
हम तुम्हे कितना याद करते है

Miss You Love Shayari in Hindi – मिस यू लव शायरी इन हिंदी
बहाने बहाने से आपकी बात करते है,
हर पल आपको महसूस करते है,
इतनी बार तो आप सांस भी नहीं लेते होंगे,
जितनी बार हम आपको याद करते है।

कभी आँसू तो कभी मुस्कान आ जाती है,
जब तेरी याद मेरे दिल के मकान आ जाती है,
ये इश्क़ है तेरा या दिल कि नादानी,
हर लम्हा तेरी याद आ जाती है।

आपकी धड़कन से ही है रिश्ता हमारा,
आपकी साँसों से ही है नाता हमारा,
भूल कर भी कभी भूल न जाना हमें,
आपकी यादों के सहारे है जीना हमारा।

बहती हवाओं से आवाज आएगी,
हर धड़कन से फरियाद आएगी,
भर देंगे आपके दिल मै प्यार इतना कि,
सांस भी लोगे तो आपको, सिर्फ मेरी याद आएगी।

याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी,
आईने को देखिये हमसे बात हो जायेगी,
शिकवा न करिए हमसे मिलने का
आँखे बंद कीजिये मुलाकात हो जायेगी।

आँखों की ज़ुबान को समझ नहीं पाते,
होंठ है मगर कुछ कह नहीं पाते,
अपने दिल की बेबसी किस तरह कहें हम,
कोई है जिसके बगैर हम रह नहीं पाते।

प्यास बुझती नहीं बरसात गुजर जाती है,
कितनी जल्दी ये मुलाकात गुजर जाती है,
अपनी यादों से कह दो यूँ न सताया करें,
नींद आती नहीं और रात गुजर जाती है।

कुछ नही चाहिए एक मुस्कान ही काफी है,
दिल में हमेशा एक अरमान ही काफी है,
हमारी अरमान है कि आप खुश रहे,
हमें सिर्फ याद करना ये एहसास ही काफी है।

सुनहरी सी तारों वाली रातें बीत जाती है।
लब पे वही प्यारी बातें फिर याद आती है।
तेरी मुलाकातें खुशियों से होती रहती है।
इसलिए मुस्कुरा कर दिन कि शुरुआत होती है।

कोई पुरानी कहानी याद आ रही है,
किसी की याद आज फिर सता रही है,
अब ऐसी सूरत में ना जाने वो कैसे आएगी,
नहीं शायद आज फिर नींद नहीं आएगी।

एक तू तेरी आवाज़ याद आएगी,
तेरी कही हुई हर बात याद आएगी,
दिन ढल जायेगा रात याद आएगी,
हर लम्हा पहली मुलाकात याद आएगी।

खूबसूरत है ज़िन्दगी एक ख्वाब की तरह,
जाने कब टूट जाये कांच की तरह,
मुझे न भूलना किसी बात की तरह,
अपने दिल में ही रखना खूबसूरत याद की तरह।

हसीन पलों को फिर से आबाद कर रहे थे,
चाँद से आपकी बातें कर रहे थे,
दिल को बड़ा सुकून मिला जानकार,
की आप भी हमें ही याद कर रहे थे।

दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत याद करता है मेरा दिल तुम्हें
ख्वाबों में आके यूँ तड़पाया ना करो।

जिंदगी में कुछ दोस्त खास बन गये,
मिले तो मुलाकात और बिछड़े तो याद बन गये,
कुछ दोस्त धीरे धीरे फिसलते चले गये,
पर जो दिल से ना गये वो आप बन गये।

शायरी करना तो बस एक बहाना है,
इरादा तो आपका एक लम्हा चुराना है,
आप हमें याद करो या न करो,
हमें तो आपके ख्यालों में आना है।

किसने कह दिया आपकी याद नहीं आती,
बिना याद किये कोई रात नहीं जाती,
वक्त बदल जाता है, आदत नहीं जाती,
आप खास हो ये बात कही नहीं जाती।

अक्सर जब हम आप को याद करते है,
अपने रब से यही फरियाद करते है,
उम्र हमारी भी लग जाए आप को,
क्योंकि हम आप से खुद से भी ज़्यादा प्यार करते है।

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे,
दुनिया में हम सबसे खुशनसीब होंगे,
दूर से जब इतना याद करते है आपको,
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे।

लोगों की भीड़ में तो मालूम नहीं होता,
मगर तनहाई मुझे बहुत सता जाती है,
आप तो आते नहीं हो बुलाने पर भी,
आपकी याद ना जाने क्यूँ चली