Ittefaq Shayari इत्तेफाक शायरी हिंदी में (2022-23)

Ittefaq Shayari In Hindi | इत्तेफाक शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Ittefaq Shayari In Hindi | इत्तेफाक शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Ittefaq Shayari इत्तेफाक शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Ittefaq Shayari
इत्तिफाक अपनी जगह खुश किस्मती अपनी जगह
खुद बनाता है जहाँ में आदमी अपनी जगह

इस इत्तिफाक को फज्ल ए खुदा समझ वाइज
कि हज्व ए मय तिरे लब पर थी मुझ को होश न था

महशर में इत्तिफाक से आया न जेहन में
वर्ना तमाम उम्र तिरा नाम याद था

Ittefaq Shayari इत्तेफाक शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

गर जिंदगी में मिल गए फिर इत्तिफाक से
पूछेंगे अपना हाल तिरी बेबसी से हम

Ittefaq Shayari इत्तेफाक शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

मिलना था इत्तिफाक बिछड़ना नसीब था
वो उतनी दूर हो गया जितना करीब था

शिकस्त ओ फत्ह मियाँ इत्तिफाक है लेकिन
मुकाबला तो दिल ए ना तवाँ ने खूब किया

वफा की रात कोई इत्तिफाक थी लेकिन
पुकारते हैं मुसाफिर को साएबाँ क्या क्या

सब कुछ हम उन से कह गए लेकिन ये इत्तिफाक
कहने की थी जो बात वही दिल में रह गई

वो इत्तिफाक से नजदीक आए हैं लेकिन
ये इत्तिफाक हुआ है बड़ी दुआओं के बा द

परत परत तिरा चेहरा सजा रहा हूँ मैं
ये इत्तिफाक कि हैं घर में आइने टूटे

किधर कफस था कहाँ हम थे किस तरफ ये कैद
कुछ इत्तिफाक है सय्याद आब ओ दाने का

हुआ है इश्क में कम हुस्न ए इत्तिफाक ऐसा
कि दिल को यार तो दिल यार को पसंद हुआ

Read More :Guftagoo Shayari
Read More :Ghatayen Shayari
Read More :Ghutan Shayari