जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari

Jaroorat Shayari | जरूरत शायरी

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari In Hindi

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari हिंदी में | शायरी, कोट्स और स्टेटस पढ़ें हिंदी में (Read Shayari, Quotes & Status in Hindi) : हेलो दोस्तों! आज आपको इस पेज पर कुछ जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari मिलेंगे। इन्हे हमारी टीम की रिसर्च और आप लोगों के द्वारा भेजे कंटेंट से अपडेट करते है। हम पेज को अलग अलग समय पर बदलाब करते है। आपको इस जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari के लिए कोई संदेह है, तो कृपया आप कॉमेंट करें। और जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari के अलावा जाने! ...की यह वेबसाइट किस-किस टॉपिक पर पेज तैयार कर चुकी है। जानने के लिए यहां से हमारी वेबसाइट के बारे में पढ़ें!

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari In Hindi | जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari हिंदी में

Jaroorat Shayari In Hindi | जरूरत शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Jaroorat Shayari In Hindi | जरूरत शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Jaroorat Shayari
अगर इतनी मुकद्दम थी जरूरत रौशनी की
तो फिर साए से अपने प्यार करना चाहिए था

खुद चरागों को अंधेरों की जरूरत है बहुत
रौशनी हो तो उन्हें लोग बुझाने लग जाएँ

शायद उसे जरूरत हो अब पर्दे की
रौशनियाँ घर की मद्धम कर जाऊँ मैं

दर अस्ल इस जहाँ को जरूरत नहीं मिरी
हर चंद इस जहाँ के लिए ना गुजीर मैं

जो दिन चढ़ा तो हमें नींद की जरूरत थी
सहर की आस में हम लोग रात भर जागे

जौर ए अफ्लाक की शिरकत की जरूरत क्या है
आप काफी हैं जमाने को सताने के लिए

जरूरत ढल गई रिश्ते में वर्ना
यहाँ कोई किसी का अपना कब है

नहीं मंजूर जब मिलना तो वा दे की जरूरत क्या
ये तुम को झूटी मूटी आदत ए इकरार कैसी है

गैर को दर्द सुनाने की जरूरत क्या है
अपने झगड़े में जमाने की जरूरत क्या है

मुफ्लिस के बदन को भी है चादर की जरूरत
अब खुल के मजारों पे ये एलान किया जाए

उसे जियादा जरूरत थी घर बसाने की
वो आ के मेरे दर ओ बाम ले गया मुझ से

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2 line or 4 line

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2 लाइन या 4 लाइन नीचे दे रहें!

बे सबब बात बढ़ाने की जरूरत क्या है
हम खफा कब थे मनाने की जरूरत क्या है

आज पैवंद की जरूरत है
ये सजा है रफू न करने की

मुझ को थकने नहीं देता ये जरूरत का पहाड़
मेरे बच्चे मुझे बूढ़ा नहीं होने देते

अब तो खुद अपनी जरूरत भी नहीं है हम को
वो भी दिन थे कि कभी तेरी जरूरत हम थे

यही सूरत वहाँ थी बे जरूरत बुत कदा छोड़ा
खुदा के घर में रक्खा क्या है नाहक इतनी दूर आए

अम्न हर शख्स की जरूरत है
इस लिए अम्न से मोहब्बत है

अब उस की दीद मोहब्बत नहीं जरूरत है
कि उस से मिल के बिछड़ने की आरजू है बहुत

Read More :Hukumat Shayari
Read More :Hosala Shayari
Read More :Hoth Shayari

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari for जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari

वेबसाइट मुख्य पृष्ट पर नए पोस्ट है। पोस्ट में जानें, हम नीचे कुछ अन्य संबंधित जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari भेज रहे है। अभी कभी कुछ पृष्ट खाली दिखाई देंगे। उसके लिए आप हमारे संपर्क सूत्र से जुड़े, और अपडेट हेतु छोटी सी बात कहें।

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari हिंदी में पढ़ें

कुछ पेज अभी भी आपके प्रतिक्रिया और अपडेट के लिए खाली है। आप भी इस वेबसाइट पर कुछ शायरी कोट्स स्टेटस पहुंचा सकते हैं। हमारी टीम 24 घंटे से 48 घंटे की कार्यवाही करके आपको सूचित करेगी। यदि आप जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari को पेज पर जोड़ना चाहते है, तो आप यहां से वेबसाइट पर अपना कंटेंट लिखें !

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2 Line

हमारी टीम कुछ नए चेंज और बदलाब कर रही है, जिससे कुछ दिन लग सकते है। जैसे ही ये जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari के लिए कुछ अन्य को जोड़ा जाएगा, तो आपको यह अतिरिक्त और भी शब्द मिलेंगे। इसके अलावा जान लें, ... की ओर क्या नया आने वाला है?

जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2022-23

हमारी टीम कई लेख को अपडेट करने और जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari पेज को ओर बढ़ाने हेतु उत्सुक है। यदि आपके पास भी कोई जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari या संबंधित टॉपिक जानकारी है। तो हमसे संपर्क कीजिए या कॉमेंट में उस जानकारी को घुसा दीजिए। टीम आपके प्रयास और अपडेट को परख के बाद जोड़ेगी। साथ ही कुछ नए टॉपिक के विचार हेतु भी आपसे साझा किया जा रहा है। वर्ष 2023 प्रारंभ होने तक हम जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari और पोस्ट कई सारे बदलाव के लिए उत्सुक है। एन्जॉय शायरी के साथ जुड़कर विज्ञापन या कोई अन्य प्रचार के लिए आप हमारी टीम से संपर्क करें !

पढ़ने के लिए धन्यवाद,


TAG: जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari in hindi, shayari on जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari for जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari in english, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari status in hindi, quotes on जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari in hindi, shayari for जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari, best जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari in 2022, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari by जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2 line, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 4 line, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 2 लाइन, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari 4 लाइन, जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari of जरूरत शायरी | Jaroorat Shayari.