Judai Shayari | जुदाई शायरी 746+

judayi shayari

 

Try These 5 Things When You First Start Judai Shayari (Because of Science). Don’t Get Too Excited. You May Not Be Done With Judai Shayari.

It’ Hard Enough To Do Push Ups – It’s Even Harder To Do Judai Shayari. I Saw This Terrible News About Judai Shayari And I Had To Google It.Judai Shayari

These Facts Just Might Get You To Change Your Judai Shayari Strategy. Ever Heard About Extreme Judai Shayari? Well About That…. The Difference Between Judai Shayari And Search Engines.

Some Facts About Judai Shayari That Will Make You Feel Better. Nothing To See Here. Just A Bunch Of Us Agreeing a 3 Basic Judai Shayari Rules.

They Compared CPA Earnings To Those Made With Judai Shayari. It’s Sad. Try These 5 Things When You First Start Judai Shayari (Because of Science).

आओ किसी रोज मुझे टूट के बिखरता देखो,
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो,
किस किस अदा से तुझे मागा है खुदा से,
आओ कभी मुझे सजदो में सिसकता देखो |

 

हो जुदाई का सबब कुछ भी मगर,
हम उसे अपनी खता कहते हैं,
वो तो साँसों में बसी है मेरे,
जाने क्यों लोग मुझसे जुदा कहते हैं.

 

तू क्या जाने क्या है तन्हाई
इस टूटे दिल से पूछो क्या है जुदाई
बेवफाई का इलज़ाम न दे ज़ालिम इस वक़्त
से पूछो किस वक़्त तेरे याद न  आई।

 

जिसकी फ़िक्र थी कभी मेरी
मुझसे भी ज्यादा आज वही
क्यों अजनबी सा बन गया है,

 

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है
एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है
पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है
हम जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी  लगती है

 

मजबूरी में जब कोई किसी से जुदा होता है,
ये तो ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में जुदाई के आँसू,
तन्हाई में वो आपसे भी ज्यादा रोता है.