Junoon Shayari जुनून शायरी हिंदी में (2022-23)

Junoon Shayari In Hindi | जूनून शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Junoon Shayari In Hindi | जूनून शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Junoon Shayari जुनून शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Junoon Shayari
बाद ए बहार में सब आतिश जुनून की है
हर साल आवती है गर्मी में फस्ल ए होली

खिरद नहीं है यहाँ बस जुनून का सौदा
हम इस जुनून से आगे मकाँ बनाते हैं

फिर वही सौदा वही वहशत वही तर्ज ए जुनूँ
हैं निशाँ मौजूद सारे इश्क की तासीर के

Junoon Shayari जुनून शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

दिलकशी थी उन्सियत थी या मोहब्बत या जुनून
सब मराहिल तुझ से जो मंसूब थे अच्छे लगे

Junoon Shayari जुनून शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

जला के मिशअल ए जाँ हम जुनूँ सिफात चले
जो घर को आग लगाए हमारे साथ चले

अजब जुनून है ये इंतिकाम का जज्बा
शिकस्त खा के वो पानी में जहर डाल आया

ताब ए यक लहजा कहाँ हुस्न ए जुनूँ खेज के पेश
साँस लेने से तवज्जोह में खलल पड़ता है

करता है गुल जुनून तमाशा कहें जिसे
गुल दस्ता ए निगाह सुवैदा कहें जिसे

जुनूँ आसार मौसम का पता कोई नहीं देगा
तुझे ऐ दश्त ए तन्हाई सदा कोई नहीं देगा

अपने जुनूँ कदे से निकलता ही अब नहीं
साकी जो मय फरोश सर ए रहगुजार था

मेरे साथ सु ए जुनून चल मिरे जख्म खा मिरा रक्स कर
मेरे पढ़ के मिलेगा क्या पता पढ़ के घर कोई पा सका?

जुनूँ शोला सामाँ खिरद शबनम अफ्शाँ
खुदा जाने ये जान जीते कि हारे

ऐ जिंदगी जुनूँ न सही बे खुदी सही
तू कुछ भी अपनी अक्ल से पागल उठा तो ला

खिरद का नाम जुनूँ पड़ गया जुनूँ का खिरद
जो चाहे आप का हुस्न ए करिश्मा साज करे

इश्क को दीजिए जुनूँ में फरोग
दर्द से दर्द की दवा कीजिए

हर चंद ओ शौक की बुनियाद है जुनूँ
चलता नहीं है काम खिरद के बगैर भी

गम ए आशिकी में गिरह कुशा न खिरद हुई न जुनूँ हुआ
वो सितम सहे कि हमें रहा न पए खिरद न सर ए जुनूँ

आ के सलासिल ऐ जुनूँ क्यूँ न कदम ले ब अद ए कैस
उस का भी हम ने सिलसिला अज सर ए नौ बपा किया

Read More :Junoon Shayari
Read More :Kaamyabi Shayari
Read More :Julfe Shayari