खास शायरी | Khas Shayari

Khas Shayari | खास शायरी

खास शायरी | Khas Shayari In Hindi

खास शायरी | Khas Shayari हिंदी में | शायरी, कोट्स और स्टेटस पढ़ें हिंदी में (Read Shayari, Quotes & Status in Hindi) : हेलो दोस्तों! आज आपको इस पेज पर कुछ खास शायरी | Khas Shayari मिलेंगे। इन्हे हमारी टीम की रिसर्च और आप लोगों के द्वारा भेजे कंटेंट से अपडेट करते है। हम पेज को अलग अलग समय पर बदलाब करते है। आपको इस खास शायरी | Khas Shayari के लिए कोई संदेह है, तो कृपया आप कॉमेंट करें। और खास शायरी | Khas Shayari के अलावा जाने! ...की यह वेबसाइट किस-किस टॉपिक पर पेज तैयार कर चुकी है। जानने के लिए यहां से हमारी वेबसाइट के बारे में पढ़ें!

खास शायरी | Khas Shayari In Hindi | खास शायरी | Khas Shayari हिंदी में

Khas Shayari In Hindi | खास शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Khas Shayari In Hindi | खास शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Khas Shayari
कुव्वत ए तामीर थी कैसी खस ओ खाशाक में
आँधियाँ चलती रहीं और आशियाँ बनता गया

दौलत ए गम भी खस ओ खाक ए जमाना में गई
तुम गए हो तो मह ओ साल कहाँ ठहरे हैं

फूँक दो याँ गर खस ओ खाशाक हैं
दूर क्यूँ फेंको हमें गुलजार से

बस एक लम्स कि जल जाएँ सब खस ओ खाशाक
इसे विसाल भी कहते हैं खुश बयानी में

खस नमत साथ मौज के लग ले
बहते बहते कहीं तो जाइएगा

जिंदगी देख तिरी खास रिआयत होगी
इक मोहब्बत है मिरे पास अगर करने दे

जो खास जल्वे थे उश्शाक की नजर के लिए
वो आम कर दिए तुम ने जहान भर के लिए

गजल फजा भी ढूँडती है अपने खास रंग की
हमारा मसअला फकत कलम दवात ही नहीं

दी है नय्यर मुझ को साकी ने ये कैसी खास मय
सब की नजरें उठ रही हैं मेरे सागर की तरफ

अदा ए खास से गालिब हुआ है नुक्ता सरा
सला ए आम है यारान ए नुक्ता दाँ के लिए

साकी वो खास तौर की ता लीम दे मुझे
उस मय कदे में जाऊँ तो पीर ए मुगाँ रहूँ

खास शायरी | Khas Shayari 2 line or 4 line

खास शायरी | Khas Shayari 2 लाइन या 4 लाइन नीचे दे रहें!

मोहब्बत के लिए कुछ खास दिल मख्सूस होते हैं
ये वो नग्मा है जो हर साज पर गाया नहीं जाता

उस से कुछ खास तअल्लुक भी नहीं है अपना
मैं परेशान हुआ जिस की परेशानी पर

पैगाम ए लुत्फ ए खास सुनाना बसंत का
दरिया ए फैज ए आम बहाना बसंत का

मर गया खास तौर पर मैं भी
जिस तरह आम लोग मरते हैं

ये तर्ज ए खास है कोई कहाँ से लाएगा
जो हम कहेंगे किसी से कहा न जाएगा

यूँ मआनी से बहुत खास है रिश्ता अपना
जिंदगी कट गई लफ्जों को खबर करने में

Read More :Milan Shayari
Read More :Mehfil Shayari
Read More :Mehboob Shayari

खास शायरी | Khas Shayari for खास शायरी | Khas Shayari

वेबसाइट मुख्य पृष्ट पर नए पोस्ट है। पोस्ट में जानें, हम नीचे कुछ अन्य संबंधित खास शायरी | Khas Shayari भेज रहे है। अभी कभी कुछ पृष्ट खाली दिखाई देंगे। उसके लिए आप हमारे संपर्क सूत्र से जुड़े, और अपडेट हेतु छोटी सी बात कहें।

खास शायरी | Khas Shayari हिंदी में पढ़ें

कुछ पेज अभी भी आपके प्रतिक्रिया और अपडेट के लिए खाली है। आप भी इस वेबसाइट पर कुछ शायरी कोट्स स्टेटस पहुंचा सकते हैं। हमारी टीम 24 घंटे से 48 घंटे की कार्यवाही करके आपको सूचित करेगी। यदि आप खास शायरी | Khas Shayari को पेज पर जोड़ना चाहते है, तो आप यहां से वेबसाइट पर अपना कंटेंट लिखें !

खास शायरी | Khas Shayari 2 Line

हमारी टीम कुछ नए चेंज और बदलाब कर रही है, जिससे कुछ दिन लग सकते है। जैसे ही ये खास शायरी | Khas Shayari के लिए कुछ अन्य को जोड़ा जाएगा, तो आपको यह अतिरिक्त और भी शब्द मिलेंगे। इसके अलावा जान लें, ... की ओर क्या नया आने वाला है?

खास शायरी | Khas Shayari 2022-23

हमारी टीम कई लेख को अपडेट करने और खास शायरी | Khas Shayari पेज को ओर बढ़ाने हेतु उत्सुक है। यदि आपके पास भी कोई खास शायरी | Khas Shayari या संबंधित टॉपिक जानकारी है। तो हमसे संपर्क कीजिए या कॉमेंट में उस जानकारी को घुसा दीजिए। टीम आपके प्रयास और अपडेट को परख के बाद जोड़ेगी। साथ ही कुछ नए टॉपिक के विचार हेतु भी आपसे साझा किया जा रहा है। वर्ष 2023 प्रारंभ होने तक हम खास शायरी | Khas Shayari और पोस्ट कई सारे बदलाव के लिए उत्सुक है। एन्जॉय शायरी के साथ जुड़कर विज्ञापन या कोई अन्य प्रचार के लिए आप हमारी टीम से संपर्क करें !

पढ़ने के लिए धन्यवाद,


TAG: खास शायरी | Khas Shayari in hindi, shayari on खास शायरी | Khas Shayari, खास शायरी | Khas Shayari for खास शायरी | Khas Shayari, खास शायरी | Khas Shayari in english, खास शायरी | Khas Shayari status in hindi, quotes on खास शायरी | Khas Shayari in hindi, shayari for खास शायरी | Khas Shayari, best खास शायरी | Khas Shayari in 2022, खास शायरी | Khas Shayari by खास शायरी | Khas Shayari, खास शायरी | Khas Shayari 2 line, खास शायरी | Khas Shayari 4 line, खास शायरी | Khas Shayari 2 लाइन, खास शायरी | Khas Shayari 4 लाइन, खास शायरी | Khas Shayari of खास शायरी | Khas Shayari.