खतरनाक शायरी | Khatrnak Shayari

Khatrnak Shayari | खतरनाक शायरी

Khatrnak Shayari In Hindi | ख़तरनाक शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Khatrnak Shayari In Hindi | ख़तरनाक शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Khatrnak Shayari
जिस बयाबान ए खतरनाक में अपना है गुजर
मुसहफी काफिले उस राह से कम निकले हैं

आईने को तोड़ा है तो मालूम हुआ है
गुजरा हूँ किसी दश्त ए खतरनाक से आगे

Read More :Mubarak Shayari
Read More :Muhabbat Shayari
Read More :Mosam Shayari