Khel Shayari खेल शायरी हिंदी में (2022-23)

Khel Shayari In Hindi | खेल शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Khel Shayari In Hindi | खेल शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Khel Shayari खेल शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Khel Shayari
खेल सब छोड़ खेल अपना खेल
आप कुदरत का तू खिलौना है

इक रोज खेल खेल में हम उस के हो गए
और फिर तमाम उम्र किसी के नहीं हुए

अब तेरा खेल खेल रहा हूँ मैं अपने साथ
खुद को पुकारता हूँ और आता नहीं हूँ मैं

Khel Shayari खेल शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

जानकारी खेल लफ्जों का जबाँ का शोर है
जो बहुत कम जानता है वो यहाँ शह जोर है

Khel Shayari खेल शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

किस्मत अजीब खेल दिखाती चली गई
जो हँस रहे थे उन को रुलाती चली गई

ये कार ए इश्क तो बच्चों का खेल ठहरा है
सो कार ए इश्क में कोई कमाल क्या करना

चाँद सूरज की तरह तुम भी हो कुदरत का खेल
जैसे हो वैसे रहो बनना बिगड़ना छोड़ो

खेल कूद कर शाम ढले क्यूँ
अपने घर को जाती धूप

खेल जिंदगी के तुम खेलते रहो यारो
हार जीत कोई भी आखिरी नहीं होती

कुछ खेल नहीं है इश्क करना
ये जिंदगी भर का रत जगा है

उम्र सफर जारी है बस ये खेल देखने को
रूह बदन का बोझ कहाँ तक कब तक ढोती है

धूप छाँव का कोई खेल है बीनाई भी
आँख को ढूँड के लाया हूँ तो मंजर गुम है

गम की तशरीह हँसी खेल नहीं है कोई
पहले इंसान तू बिन फिर ये हुनर पैदा कर

हवा के खेल में शिरकत के वास्ते मुझ को
खिजाँ ने शाख से फेंका है रहगुजार के बीच

उन रस भरी आँखों में हया खेल रही है
दो जहर के प्यालों में कजा खेल रही है

ऐसे रिश्ते का भरम रखना कोई खेल नहीं
तेरा होना भी नहीं और तिरा कहलाना भी

जान ले लेना जलाना खेल है माशूक का
आँख से मारा लब ए नाजुक से जिंदा कर दिया

सीखिए जुरअत किसी से कोई बाजी कोई खेल
इस बहाने से कोई वाँ हम को ले तो जाएगा

Read More :Nafarat Shayari
Read More :Muskaan Shayari
Read More :Nadan Shayari