खुशी शायरी – Khushi Shayari in Hindi

How To Find The Right Khushi Shayari For Your Specific Product(Service).. If You Do Not (Do)Khushi Shayari Now, You Will Hate Yourself Later. The Truth Is You Are Not The Only Person Concerned About Khushi Shayari.

Can You Pass The Khushi Shayari Test?. How To Make Your Khushi Shayari Look Like A Million Bucks. The Philosophy Of Khushi Shayari. Master (Your) Khushi Shayari in 5 Minutes A Day.

Make Your Khushi ShayariA Reality. The Best Way To Khushi Shayari. Why I Hate Khushi Shayari. 4 Ways You Can Grow Your Creativity Using Khushi Shayari.Khushi Shayari

 

कहीं अंधेरा तो कहीं शाम होगी,
मेरी हर खुशी तेरे नाम होगी,
कभी माँग कर तो देख हमसे ऐ दोस्त,
होंठों पर हँसी और हथेली पर जान होगी।

 

ख़ुशी मेरी तलाश में दिन-रात
यूँ ही भटकती रही,
कभी उसे मेरा घर ना
मिला कभी उसे हम घर ना मिले।

 

मैं बद-नसीब हूँ मुझ को न
दे ख़ुशी इतनी
कि मैं ख़ुशी को भी ले कर
ख़राब कर दूँगा !!

 

यूं आये जिंदगी में कि ख़ुशी मिल गई,
मुश्किल राहों में चलने की वजह मिल गई,
हर एक लम्हा खुशनुमा बना दिया,
मेरी उम्मीद को नई मंजिल मिल गई।

 

आपकी पसंद हमरी चाहत बन जाये,
आपकी मुस्कान दिल की राहत बन जाये,
खुदा खुशियों से इतना खुश कर दे आपको,
कि आपको खुश देखना हमारी आदत बन जाए।

 

जब भी उनकी गली से गुजरते हैं,
मेरी आँखें एक दस्तक दे देती हैं,
दुःख ये नहीं वो दरवाजा बंद कर लेते हैं,
खुशी ये है वो मुझे पहचान लेते हैं।