Khushnaseeb Shayari | खुशनसीब शायरी 214+

How To Earn $398/Day Using Khushnaseeb Shayari. Khushnaseeb Shayari: This Is What Professionals Do. Listen To Your Customers.

They Will Tell You All About Khushnaseeb Shayari. Learn Exactly How We Made Khushnaseeb Shayari Last Month. Why Most People Will Never Be Great At Khushnaseeb Shayari.

10 Secret Things You Didn’t Know About Khushnaseeb Shayari. If Khushnaseeb Shayari Is So Terrible, Why Don’t Statistics Show It?. The Number One Reason You Should (Do) Khushnaseeb Shayari.Khushnaseeb Shayari

 

तुम से मुझे रब ने मिलाया

में बहोत खुशनसीब था जो

तुम्हे जिंदगी का मेरी प्यारा

साथी बनाया।

 

इस दिल को बहोत तकलीफ दी उसने

फिर भी ये नासमझ दिल उसे देखकर हसता हे

अब न जाने उसके दिल में किस

खुशनसीब का दिल बसता हे।

 

कह नहीं सकते अमीर को अमीर

गरीब को गरीब कह नहीं सकते

लगा रहता हे तेरे छोड़ जाने का डर

की खुद को खुशनसीब कह नहीं सकते।

 

मेरे लिए हुए ये लफ्ज मुझसे तो

खुशनसीब हे

जिनको कुछ देर तो पढेंगी इन्हे

तेरी निगाहें।

 

वो लोग बहोत खुशनसीब होते हे

जिनके दोस्त कहते हे की

परीशान मत हो में हु ना

तुम्हारे साथ।