Kirdar Shayari किरदार शायरी हिंदी में (2022-23)

Kirdar Shayari In Hindi | किरदार शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Kirdar Shayari In Hindi | किरदार शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Kirdar Shayari
मेरे किरदार में मुज्मर है तुम्हारा किरदार
देख कर क्यूँ मिरी तस्वीर खफा हो तुम लोग

पस मंजर में फीड हुए जाते हैं इंसानी किरदार
फोकस में रफ्ता रफ्ता शैतान उभरता आता है

किरदार देखना है तो सूरत न देखिए
मिलता नहीं जमीं का पता आसमान से

कोई किरदार अदा करता है कीमत इस की
जब कहानी को नया मोड़ दिया जाता है

जिन के किरदार से आती हो सदाकत की महक
उन की तदरीस से पत्थर भी पिघल सकते हैं

तू अपनी मर्जी के सभी किरदार आजमा ले
मिरे बगैर अब तिरी कहानी नहीं चलेगी

चीख उठता है दफअतन किरदार
जब कोई शख्स बद गुमाँ हो जाए

तेरे किरदार को इतना तो शरफ हासिल है
तू नहीं था तो कहानी में हकीकत कम थी

रह गए कितने किरदार भीतर मिरे
मेरे भीतर मिरा काफिला रह गया

लगता है जुदा सब से किरदार वसीम उस का
वो शहर ए मोहब्बत का बाशिंदा नजर आए

किरदार उस को ढूँडते फिरते हैं जा ब जा
गुम आ के हो गई है कहानी मिरी तरफ

एक किरदार नया रोज जिया करता हूँ
मुझ को शाएर न कहो एक अदाकार हूँ मैं

वही तो मरकजी किरदार है कहानी का
उसी पे खत्म है तासीर बेवफाई की

कहानी में नए किरदार शामिल हो गए हैं
नहीं मा लूम अब किस ढब तमाशा खत्म होगा

देखता है कौन बाबर किस का क्या किरदार है
जिस से जो मंसूब किस्सा हो गया तो हो गया

नए किरदार आते जा रहे हैं
मगर नाटक पुराना चल रहा है

सभी किरदार थक कर सो गए हैं
मगर अब तक कहानी चल रही है

मरा हुआ मैं वो किरदार हूँ कहानी का
जो जी रहा है कहानी तवील करते हुए

Read More :Sabak Shayari
Read More :Saath Shayari
Read More :Roothna Shayari