महाकाल शायरी | Mahakal Shayari

महाकाल शायरी इन हिंदी Mahakal Shayari in HindiMahakal Shayari

 

Mahakal Shayari in Hindi – महाकाल शायरी इन हिंदी

फिदा हो जाऊँ..
तेरी किस-किस अदा पर #महाकाल
अदायें लाख तेरी, बेताब #दिल एक हें मेरा

यह कलयुग है
यहाँ ताज #अच्छाई को नही
#बुराई को मिलता है,
लेकिन हम तो बाबा #महाकाल के दीवाने है ,
ताज के नही #रुद्राक्ष के दीवाने है.

मौत की गोद में सो रहे हैं
धुंए में हम खो रहे है
महाकाल की भक्ति है सबसे ऊपर
शिव शिव जपते जाग रहे है, सो रहे हैं!

जिन्दा #साँस और मुरदा राख
चिलम मे #गाँजा दूध मे #भाँग
देव भी सोचे बार #बार
#दम लगाये #हजार बार
ऐसे है #महाकाल

मिलती है तेरी भक्ती
#महाकाल बडे जतन के बाद,
पा ही लूँगा #तुझे मे…
श्मशान मे जलने के बाद।