Mashoor Shayari मशहूर शायरी हिंदी में (2022-23)

Mashoor Shayari In Hindi | मशहूर शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Mashoor Shayari In Hindi | मशहूर शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Mashoor Shayari
हम मुसहफी ब कुफ्र तो मशहूर हो चुके
आना कुबूल अब नहीं इस्लाम में हमें

सारे जहाँ में किस्से ये मशहूर हो गए
भाई हमारे मुंकिर ए दस्तूर हो गए

इश्क का नाम गरचे है मशहूर
मैं तअ ज्जुब में हूँ कि क्या शय है

कितनी आसानी से मशहूर किया है खुद को
मैं ने अपने से बड़े शख्स को गाली दे कर

पूछ ले परवीं से या कैस से दरयाफ्त कर
शहर में मशहूर है तेरे फिदाई का इश्क

मोहब्बत जुर्म है तो फिर सजा भी एक जैसी हो
कोई रुस्वा कोई मशहूर हो ऐसा नहीं होता

हर इक उन का ख्वाहाँ हर इक उन का तालिब
पड़े किस मुसीबत में मशहूर हो कर

काफिर हूँ जो महरम पे भी हाथ उस के लगा हो
मशहूर गलत महरम ए असरार हुए हम

वही चर्चे वही किस्से मिली रुस्वाइयाँ हम को
उन्ही किस्सों से वो मशहूर हो जाए तो क्या कीजे

मोहब्बत को छुपाए लाख कोई छुप नहीं सकती
ये वो अफ्साना है जो बे कहे मशहूर होता है

अफ्साना ए मजनूँ से नहीं कम मिरा किस्सा
इस बात को जाने दो कि मशहूर नहीं है

फना के बा द इस दुनिया में कुछ बाकी नहीं रहता
फकत इक नाम अच्छा या बुरा मशहूर रहता है

सैल ए जमाँ में डूब गए मशहूर ए जमाना लोग
वक्त के मुंसिफ ने कब रक्खा काएम उन का नाम

जहाँ कुछ दर्द का मजकूर होगा
हमारा भी मशहूर होगा

Read More :Sapna Shayari
Read More :Saheed Shayari
Read More :Enjoy Shayari