Matlab Shayari मतलबी शायरी हिंदी में (2022-23)

Matlab Shayari In Hindi | मतलब शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Matlab Shayari In Hindi | मतलब शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Matlab Shayari
जो ला मजहब हो उस को मिल्लत ओ मशरब से क्या मतलब
मिरा मशरब है रिंदी रिंद को मजहब से क्या मतलब

काफिर ए इश्क को क्या दैर ओ हरम से मतलब
जिस तरफ तू है उधर ही हमें सज्दा करना

है ये मतलब गर्दिश ए अय्याम का
पर्दा रख ले कोशिश ए नाकाम का

किताब ए इश्क में साए का मतलब
दर ओ दीवार का साया नहीं है

मतलब का जमाना है नादिर कोई क्या देगा
मुझ सोखता ए किस्मत को देगा तो खुदा देगा

कुछ न मतलब था न मजमूँ शौक के दो हर्फ थे
मैं जो लिखने के लिए बैठा तो दफ्तर हो गया

उस दिल नशीं अदा का मतलब कभी न समझे
जब हम ने कुछ कहा है वो मुस्कुरा दिए हैं

जिस बात का मतलब खुश्बू है हर गाँव के कच्चे रस्ते पर
उस बात का मतलब बदलेगा जब पक्की सड़क आ जाएगी

हमें दुनिया में अपने गम से मतलब
जमाने की खुशी से वास्ता क्या

गरज कुफ्र से कुछ न दीं से है मतलब
तमाशा ए दैर ओ हरम देखते हैं

इश्क का मतलब किसे मालूम था
जिन दिनों आए थे हम दिल हार के

हलाल रिज्क का मतलब किसान से पूछो
पसीना बन के बदन से लहू निकलता है

हम तो आवारा ए सहरा हैं हमें क्या मतलब
उन की महफिल में जुनूँ की कोई तौकीर सही

काबे से गरज उस को न बुत खाने से मतलब
आशिक जो तिरा है न इधर का न उधर का

हम तो रात का मतलब समझें ख्वाब, सितारे, चाँद, चराग
आगे का अहवाल वो जाने जिस ने रात गुजारी हो

ने बुत कदा से काम न मतलब हरम से था
महव ए खयाल ए यार रहे हम जहाँ रहे

आप ही से न जब रहा मतलब
फिर रकीबों से मुझ को क्या मतलब

Read More :Yaadein Shayari
Read More :Yaadgaar Shayari
Read More :Wajood Shayari