Mausam Shayari | 869+ मौसम शायरी

mausam shayari आप के लिए हम लेकर आए है। जब आप इन सभी shayari on mausam को पढ़े, उस समय उन्हें शेयर करने की उत्सुकता दिखाएं।

mosam shayari आपके बहुत पसंद आने वाली है, इसलिए आप हमारे पोस्ट को पढ़ते रहें। mausam shayari in hindi को हम नीचे आपके लिए दे रहे है।

mausam par shayariMausam Shayari

 

कम से कम अपनी जुल्फे तो बाँध लिया करो।
कमबख्त. बेवजह मौसम बदल दिया करते हैं।।

 

जब तुम यूँ मुस्कुराते हुए आते हो,
तो संग मौसम बाहर का लाते हो.

 

सुहाना मौसम भी बिगड़ जाता है
आँधियों के चलने से
धोखेबाज भी बदल जाते है
धोखेबाजियों के चलने से

 

विचार हो जैसा वैसा मंजर होता है,
मौसम तो इंसान के अंदर होता है.

 

जो आना चाहो हज़ारों रास्ते
न आना चाहो तो हज़ारों बहाने।
मिज़ाज-ऐ-बरहम , मुश्किल रास्ता
बरसती बारिश और ख़राब मौसम।।

 

मौसम का मिजाज समझ में नही आता है,
यह भी इंसानों की तरह बेवफा हो जाता है.