Mohabbatein Shayari मोहब्बतें शायरी हिंदी में (2022-23)

Mohabbatein Shayari In Hindi | मोहब्बतें शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Mohabbatein Shayari In Hindi | मोहब्बतें शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Mohabbatein Shayari मोहब्बतें शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Mohabbatein Shayari
खुदा! सिला दे दुआ का, मोहब्बतों के खुदा
खुदा! किसी ने किसी के लिए दुआ की थी

सीने में बे करार हैं मुर्दा मोहब्बतें
मुमकिन है ये चराग कभी खुद ही जल पड़े

मोहब्बतों को भी उस ने खता करार दिया
मगर ये जुर्म हमें बार बार करना है

Mohabbatein Shayari मोहब्बतें शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

अफ्सोस ये वबा के दिनों की मोहब्बतें
इक दूसरे से हाथ मिलाने से भी गए

Mohabbatein Shayari मोहब्बतें शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

एहसान ए रब मोहब्बतें इतनी मिलीं अदील
इस उम्र ए मुख्तसर में न लौटा सकेंगे हम

मोहब्बतें तो फकत इंतिहाएँ माँगती हैं
मोहब्बतों में भला ए तिदाल क्या करना

तुम्हें हमारी मोहब्बतों के हसीन जज्बे बुला रहे हैं
जो हम ने लिक्खे थे तुम पे हमदम वो सारे नग्मे बुला रहे हैं

मोहब्बतों की शिकस्तों का इक खराबा हूँ
खुदारा मुझ को गिराओ कि मैं दोबारा बनूँ

मोहब्बतों के हसीं बाब से जरा आगे
किताब ए जीस्त में मिलता है गुमरही का वरक

मोहब्बतें भी उसी आदमी का हिस्सा थीं
मगर ये बात पुराने जमाने वाली है

यूँ तो मोहब्बतों में बड़ी कुर्बतें रहीं
लेकिन जो दिल से पूछो तो खल्वत कमाई है

मोहब्बतों के लिए उम्र कम है सो वो शख्स
सभी शिकायतें कुछ दिन इधर उधर कर दे

मोहब्बतें न रहीं उस के दिल में मेरे लिए
मगर वो मिलता था हँस कर कि वज्अ दार जो था

मुझे इश्तिहार सी लगती हैं ये मोहब्बतों की कहानियाँ
जो कहा नहीं वो सुना करो जो सुना नहीं वो कहा करो

मोहब्बतें तो हुईं और तुम से पहले भी
मगर जो तुम से हुई याद करते रहते हैं

नए हैं वस्ल के मौसम मोहब्बतें भी नई
नए रकीब हैं अब के अदावतें भी नई

Read Also:Intjaar Shayari 
Read Also:Bandhan Shayari 
Read Also:Dhadkan Shayari