Mukabala Shayari मुकाबला शायरी हिंदी में (2022-23)

Mukabala Shayari In Hindi | मुकाबाला शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Mukabala Shayari In Hindi | मुकाबाला शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Mukabala Shayari
हो बिजलियों का मुझ से जहाँ पर मुकाबला
या रब वहीं चमन में मुझे आशियाना दे

जख्म खा कर भी जो दुआएँ दे
कौन उस का मुकाबला करेगा

“देखने लायक मुकाबला होगा
चांद का सामना चांद से होगा”

“हमसे मुकाबला कर तो रहे हो
लेकिन याद रखना हार
तो तुम पहले ही चुके हो”

“अपनी साहस अपनी काबिलियत
अपनी ताकत को पहचानो
डटकर मुकाबला करो मुश्किलों का
कभी हार न मानो।”

“बस एक छोटी सी गलतफहमी
ले आया मीलों का फासला
हम जिसके लिए भूले दोनो जहान
अब उसीसे भूलने का मुकाबला”

“मुक़ाबले से बेशक़ दूर होती है
इश्क़
कमबख्त हार हो या जीत
दोनों की होती है “

Read Also:Jaroorat Shayari 
Read Also:Kaash Shayari 
Read Also:Kashmakash Shayari