Mulakat Shayari मुलाकात शायरी हिंदी में (2022-23)

Mulakat Shayari In Hindi | मुलाकात शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Mulakat Shayari In Hindi | मुलाकात शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Mulakat Shayari
अब मुलाकात हुई है तो मुलाकात रहे
न मुलाकात थी जब तक कि मुलाकात न थी

ये मुलाकात मुलाकात नहीं होती है
बात होती है मगर बात नहीं होती है

इक बे करार दिल से मुलाकात कीजिए
जब मिल गए हैं आप तो कुछ बात कीजिए

मुनहसिर वक्त ए मुकर्रर पे मुलाकात हुई
आज ये आप की जानिब से नई बात हुई

मुद्दतें गुजरीं मुलाकात हुई थी तुम से
फिर कोई और न आया नजर आईने में

दोस्तों से मुलाकात की शाम है
ये सजा काट कर अपने घर जाऊँगा

कल रात जिंदगी से मुलाकात हो गई
लब थरथरा रहे थे मगर बात हो गई

मुद्दतों खुद से मुलाकात नहीं होती है
रात होती है मगर रात नहीं होती है

यूँ सर ए राह मुलाकात हुई है अक्सर
उस ने देखा भी नहीं हम ने पुकारा भी नहीं

कैसे कह दूँ कि मुलाकात नहीं होती है
रोज मिलते हैं मगर बात नहीं होती है

हर मुलाकात का अंजाम जुदाई क्यूँ है
अब तो हर वक्त यही बात सताती है हमें

कुछ इशारा जो किया हम ने मुलाकात के वक्त
टाल कर कहने लगे दिन है अभी रात के वक्त

हर मुलाकात का अंजाम जुदाई था अगर
फिर ये हंगामा मुलाकात से पहले क्या था

राह में उन से मुलाकात हो गई
जिस से डरते थे वही बात हो गई

आज बरसों में तो किस्मत से मुलाकात हुई
आप मुँह फेर के बैठे हैं ये क्या बात हुई

राह ए उल्फत में मुलाकात हुई किस किस से
दश्त में कैस मिला कोह में फरहाद मुझे

इक माह रुख से मेरी मुलाकात हो गई
जिस का गुमान भी न था वो बात हो गई

Read Also:Bechain Shayari 
Read Also:Ghutan Shayari 
Read Also:Mehfil Shayari