Najar Shayari नजर शायरी हिंदी में (2022-23)

Najar Shayari In Hindi | नज़र शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Najar Shayari In Hindi | नज़र शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Najar Shayari नजर शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Najar Shayari
वो संग दिल अंगुश्त ब दंदाँ नजर आवे
ऐसा कोई सदमा मिरी जाँ पर नहीं होता

शब ए फुर्कत नजर आते नहीं आसार ए सहर
इतनी जुल्मत है रुख ए शम्अ पे भी नूर नहीं

नजर और वुसअत ए नजर मालूम
इतनी महदूद काएनात नहीं

Najar Shayari नजर शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

उस बज्म में जो कुछ नजर आया नजर आया
अब कौन बताए कि हमें क्या नजर आया

Najar Shayari नजर शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

रहे जरा दिल ए खूँ गश्ता पर नजर अंजुम
उसी सदफ से अजब क्या गुहर निकल आए

दिल है शौक ए वस्ल में मुज्तर नजर मुश्ताक ए दीद
जो है मशगूल अपनी अपनी सई ए ला हासिल में है

नजर से हद्द ए नजर तक तमाम तारीकी
ये एहतिमाम है इक वा दा ए सहर के लिए

आते नजर हैं दश्त ओ जबल जर्द हर तरफ
है अब के साल ऐसी है ऐ दोस्ताँ बसंत

चूकी नजर जो जाहिद ए खाना खराब की
तौबा उड़ा के ले गई बोतल शराब की

वही नजर में है लेकिन नजर नहीं आता
समझ रहा हूँ समझ में मगर नहीं आता

नजर कहीं नहीं अब आते हजरत ए नासेह
सुना है घर में किसी मह लका के बैठ गए

आलम ए इश्क में अल्लाह रे नजर की वुसअत
नुक्ता ए वहम हुआ गुम्बद ए गर्दूं मुझ को

नजर आती है सारी काएनात ए मै कदा रौशन
ये किस के सागर ए रंगीं से फूटी है किरन साकी

कहीं न उन की नजर से नजर किसी की लड़े
वो इस लिहाज से आँखें झुकाए बैठे हैं

नहीं है फुर्सत ए इक दम प आह उस को नजर
हबाब देखे है आँखें निकाल के कैसा

नजर में दूर तलक रहगुजर जरूरी है
किसी भी सम्त हो लेकिन सफर जरूरी है

सदा ए शहर फुसूँ है नजर न दर से हटा
वो मिस्ल ए संग हुआ जिस ने लौट कर देखा

खयाल ए वादा तिरा बस कि शब नजर में रहा
तमाम रात मिरा जी सदा ए दर में रहा

अनवर मिरी नजर को ये किस की नजर लगी
गोभी का फूल मुझ को लगे है गुलाब का

Read Also:Sathi Shayari 
Read Also:Kutta Shayari 
Read Also:Dada Shayari