नशा शायरी | Nasha Shayari

What Will Nasha Shayari Be Like in 100 Years? Why We Love Nasha Shayari (And You Should, Too!). Don’t Make This Silly Mistake With Your Nasha Shayari. Ask Me Anything: 10 Answers to Your Questions About Nasha Shayari

Inspirational Graphics About Nasha Shayari. Meet the Steve Jobs of the Nasha Shayari Industry. The Top Reasons People Succeed in the Nasha Shayari Industry. How Much Should You Be Spending on Nasha Shayari?Nasha Shayari

 

नशा हम किया करते है, इलज़ाम शराब को दिया करते हैं
कसूर शराब का नहीं उनका है जिनका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं।

 

मयखाने में आऊंगा, मगर पिऊंगा नहीं साकी
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती।

 

कुछ नशा तो आपकी बात का है;
कुछ नशा तो धीमी बरसात का है;
हमें आप यूँ ही शराबी ना कहिये;
इस दिल पर असर तो आप से मुलाकात का है।

 

तन्हाईयों के आलम की ना बात करो जनाब;
नहीं तो फिर बन उठेगा जाम और बदनाम होगी शराब।

 

हाथों में पत्थर नहीं, फिर भी चोट देती है…
ये जुबान भी अजीब है, अच्छे-अच्छों के घर तोड़ देती है।