हैप्पी नवरात्रि शायरी – Navratri Shayari in Hindi

माता का पर्व आता है, हज़ारो खुशिया लाता है,
इस बार माँ आपको वो सब दे, जो आपका दिल चाहता है।

शेर पर सवार होकर, खुशियों का वरदान लेकर,
हर घर में विराजी अंबे माँ, हम सबकी जगदंबे माँ।

हर्षित हुआ मन, पुलकित हुआ संसार,
नन्हें नन्हें कदमों से, माँ आये आपके द्वार।

मां का त्यौहार आ गया है, अनगिनत खुशियां लाया है,
हर मनोकामना पूरी हो आपकी, वर्दानी का आशीष छाया है।

तेरे जगत के भक्त जनों पर भीड़ पड़ी है भारी,
इन दानव दल पर टूट पड़ो माँ कर के सिंह सवारी।

सारी रात माँ के गुण गाये,
माँ का ही नाम जपें और माँ में ही खो जाए।

रोशनी माँ तेरे प्यार की पल पल महसूस करूं,
तुझसे है आस मेरी माँ, तभी तो करम करके धीरज धरूं।

आ जाओ सभी, की आज जगरात्रि है,
माँ सुनेंगी हर पुकार, की आज नवरात्रि है।

सोचा करता था माँ तेरी कृपा बिना कैसे ज़रूरते होंगी पूरी,
तेरा आशीर्वाद मिला जो माँ तो नही रही कोई हसरत अधूरी।

मां तेरे चरणों मे जो थोड़ी सी जगह मिल जाती,
मेरे तड़पते मन को भी थोड़ी राहत हो जाती।

दरबार तेरा दरबारों में, एक ख़ास अहमियत रखता है,
उसको वैसा मिल जाता है, जो जैसी नियत रखता है।