Nazakat Shayari नज़ाकत शायरी हिंदी में (2022-23)

Nazakat Shayari In Hindi | नज़ाकत शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Nazakat Shayari In Hindi | नज़ाकत शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Nazakat Shayari
नजाकत उस गुल ए राना की देखियो इंशा
नसीम ए सुब्ह जो छू जाए रंग हो मैला

यार की फर्त ए नजाकत का हूँ मैं शुक्र गुजार
ध्यान भी उस का मिरे दिल से निकलने न दिया

अल्लाह रे उस गुल की कलाई की नजाकत
बल खा गई जब बोझ पड़ा रंग ए हिना का

इस नजाकत का बुरा हो वो भले हैं तो क्या
हाथ आवें तो उन्हें हाथ लगाए न बने

अल्लाह री नजाकत ए जानाँ कि में
मजमूँ बंधा कमर का तो दर्द ए कमर हुआ

नाज है गुल को नजाकत पे चमन में ऐ जौक
उस ने देखे ही नहीं नाज ओ नजाकत वाले

फूल कह देने से अफ्सुर्दा कोई होता है
सब अदाएँ तिरी अच्छी हैं नजाकत के सिवा

दुश्नाम ए यार तब् ए हजीं पर गिराँ नहीं
ऐ हम नशीं नजाकत ए आवाज देखना

Read Also:Baba Shayari 
Read Also:Hariyali Shayari 
Read Also:Khwahish Shayari