Raaste Shayari रास्ते शायरी हिंदी में (2022-23)

Raaste Shayari In Hindi | रास्ते शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Raaste Shayari In Hindi | रास्ते शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Raaste Shayari
हजार रास्ते बदले हजार स्वाँग रचे
मगर है रक्स में सर पर इक आसमान वही

रास्ते और तवाजो में है रब्त ए कल्बी
जिस तरह लाम अलिफ में है अलिफ लाम में है

किसी के रास्ते की खाक में पड़े हैं जफर
मता ए उम्र यही आजिजी निकलती है

दूर तक ये रास्ते खामोश हैं
दूर तक हम खुद को सुनते जाएँगे

वही कारवाँ वही रास्ते वही जिंदगी वही मरहले
मगर अपने अपने मकाम पर कभी तुम नहीं कभी हम नहीं

रास्ते शहर के सब बंद हुए हैं तुम पर
घर से निकलोगे तो मखमूर किधर जाओगे

तिरा वजूद तिरे रास्ते में हाइल है
यहीं से हो के मिरा काफिला गुजरता है

अपने सारे रास्ते अंदर की जानिब मोड़ कर
मंजिलों का इक निशाँ बाहर बनाना चाहिए

यहाँ से चारों तरफ रास्ते निकलते हैं
ठहर ठहर के हम इस ख्वाब से निकलते हैं

उठा ही लाया सभी रास्ते वो काँधों पर
यकीन उस पे न करता तो मैं किधर जाता

रास्ते में मिल गए तो पूछ लेते हैं मिजाज
इस से बढ़ कर और क्या उन की इनायत चाहिए

गो हरम के रास्ते से वो पहुँच गए खुदा तक
तिरी रहगुजर से जाते तो कुछ और बात होती

इस रास्ते में जब कोई साया न पाएगा
ये आखिरी दरख्त बहुत याद आएगा

वो क्या मंजिल जहाँ से रास्ते आगे निकल जाएँ
सो अब फिर इक सफर का सिलसिला करना पड़ेगा

Read Also:Sahara Shayari 
Read Also:Gulabi Shayari 
Read Also:Kashti Shayari