Sadgi Shayari सादगी शायरी हिंदी में (2022-23)

Sadgi Shayari In Hindi | सादगी शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Sadgi Shayari In Hindi | सादगी शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Sadgi Shayari सादगी शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Sadgi Shayari
किस सादगी से वो भी दगा दे गया मुझे
जिस शख्स ने कहा था कभी देवता मुझे

वो सादगी में भी है अजब दिलकशी लिए
इस वास्ते हम उस की तमन्ना में जी लिए

ब जाहिर सादगी से मुस्कुरा कर देखने वालो
कोई कम बख्त ना वाकिफ अगर दीवाना हो जाए

Sadgi Shayari सादगी शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

वो सादगी से तगाफुल को नाज कहते हैं
मगर सिखाती है शोखी कि इम्तिहाँ कहिए

Sadgi Shayari सादगी शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

अल्लाह रे सादगी नहीं इतनी उन्हें खबर
मय्यत पे आ के पूछते हैं इन को क्या हुआ

सादगी की इंतिहा कर दी जवानान चमन
उम्र भर रंग मिजाज बागबाँ देखा किए

ये मेरी तीरा नसीबी ये सादगी ये फरेब
गिरी जो बर्क मैं समझा चराग ए खाना मिला

यूँ चुराईं उस ने आँखें सादगी तो देखिए
बज्म में गोया मिरी जानिब इशारा कर दिया

अहबाब पूछते हैं बड़ी सादगी के साथ
तू अब के साल ईद मनाएगा किस तरह

सख्त जान लेवा है सादगी मोहब्बत की
जहर की कसौटी पर जिंदगी को कसती है

तिरी अदाओं की सादगी में किसी को महसूस भी न होगा
अभी कयामत का इक करिश्मा हया के दामन में पल रहा है

सादगी देख कि बोसे की तमअ रखता हूँ
जिन लबों से कि मयस्सर नहीं दुश्नाम मुझे

वो मिरी सादगी पे मरता है
मुझ को गहनों की क्या जरूरत है

बनावट हो तो ऐसी हो कि जिस से सादगी टपके
जियादा हो तो असली हुस्न छुप जाता है जेवर से

अजब खुलूस अजब सादगी से करता है
दरख्त नेकी बड़ी खामुशी से करता है

उसी को हम समझ लेते हैं अपना सादगी देखो
जो अपने साथ राह ए शौक में दो गाम आता है

Read Also:Khuddar Shayari 
Read Also:Jakhami Shayari 
Read Also:Pareshan Shayari