Sapna Shayari सपना शायरी हिंदी में (2022-23)

Sapna Shayari In Hindi | सपना शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Sapna Shayari In Hindi | सपना शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Sapna Shayari
चंद यादें हैं चंद सपने हैं
अपने हिस्से में और क्या है जी

सारे सपने बाँध रखे हैं गठरी में
ये गठरी भी औरों में बट जाएगी

जिंदगी तो सपना है कौन राम अपना है
क्या किसी को दुख देना क्या किसी का गम करना

अम्न के सारे सपने झूटे
सपनों की ताबीरें झूटी

जैसे देखा हो आखिरी सपना
रात इतनी उदास थीं आँखें

ये कड़वा सच है यारों मुफ्लिसी का
यहाँ हर आँख में हैं टूटे सपने

इक दिन उस ने नैन मिला के शर्मा के मुख मोड़ा था
तब से सुंदर सुंदर सपने मन को घेरे फिरते हैं

कभी मिलोगे ये सोच कर दिल
हजार सपने बुना करेगा

अब भी आती है तिरी याद प इस कर्ब के साथ
टूटती नींद में जैसे कोई सपना देखा

मैं जिन को अपना कहता हूँ कब वो मिरे काम आते हैं
ये सारा संसार है सपना सब झूटे रिश्ते नाते हैं

जमीं के जख्म समुंदर तो भर न पाएगा
ये काम दीदा ए तर तुझ को सौंपना होगा

हमें तो ख्वाब का इक शहर आँखों में बसाना था
और इस के बा द मर जाने का सपना देख लेना था

ये सन कर मेरी नींदें उड़ गई हैं
कोई मेरा भी सपना देखता है

Read Also:Anjaan Shayari 
Read Also:Jazbaat Shayari 
Read Also:Sahab Shayari