अक्षर अनुसार शायरी में घुसें

अं अ: क्ष त्र ज्ञ श्र

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari In Hindi

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari हिंदी में | कोट्स और स्टेटस हिंदी में पढ़ें : हेलो दोस्तों आज आपको इस पोस्ट के भीतर कुछ शिकायत शायरी | Shikayat Shayari मिलेंगे। हमारी टीम अलग अलग समय पर नए ज्ञान शब्दों को जोड़ते रहते है। आपको हमारे किसी शिकायत शायरी | Shikayat Shayari के लिए कोई संदेह यह कॉमेंट है, तो कृपया आप भरे।

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari In Hindi | शिकायत शायरी | Shikayat Shayari हिंदी में

Shikayat Shayari

Shikayat Shayari

कोई शिकवा न शिकायत न वज़ाहत कोई
मेज़ से बस मिरी तस्वीर हटा दी उस ने !

ख़ुदा के वास्ते मौक़ा न दे शिकायत का
कि दोस्ती की तरह दुश्मनी निभाया कर !

अगर बख़्शे ज़हे क़िस्मत न बख़्शे तो शिकायत क्या
सर ए तस्लीम ख़म है जो मिज़ाज ए यार में आए !

आरज़ू हसरत और उम्मीद शिकायत आँसू
इक तिरा ज़िक्र था और बीच में क्या क्या निकला !

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari हिंदी में पढ़िए

शिकायत मुझ को दोनों से है नासेह हो कि वाइज़ हो
न समझा हूँ न समझूँ सर फिरा ले जिस का जी चाहे !

ज़रा ज़रा सी शिकायत पे रूठ जाते हैं
नया नया है अभी शौक़ दिलरुबाई का !

किस से महरूमी ए क़िस्मत की शिकायत कीजे
हम ने चाहा था कि मर जाएँ सो वो भी न हुआ !

दे मुझ को शिकायत की इजाज़त कि सितमगर
कुछ तुझ को मज़ा भी मिरे आज़ार में आवे !

किस को नहीं कोताही ए क़िस्मत की शिकायत
किस को गिला ए गर्दिश ए अय्याम नहीं है !

 हैप्पी नवरात्रि शायरी | Navratri Shayari
नवरात्रि स्टेटस | Navratri Status
हैप्पी नवरात्रि विशेष | Navratri Wishes
 

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2 line or 4 line

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2 लाइन या 4 लाइन नीचे दे रहें!

रह गई है कुछ कमी तो क्या शिकायत है फहीम
इस जहाँ में सब अधूरे हैं मुकम्मल कौन है !

ज़बाँ पे शुक्र ओ शिकायत के सौ फ़साने हैं
मगर जो दिल पे गुज़रती है क्या कहा जाए !

अर्श पहले ये शिकायत थी ख़फ़ा होता है वो
अब ये शिकवा है कि वो ज़ालिम ख़फ़ा होता नहीं !

जो तू कहे तो शिकायत का ज़िक्र कम कर दें
मगर यक़ीं तिरे वादों पे ला नहीं सकते !

सख़्त बीवी को शिकायत है जवान ए नौ से
रेल चलती नहीं गिर जाता है पहले सिगनल !

बाज़ार के दामों की शिकायत है हर इक को
फिर भी सर ए बाज़ार बड़ी भीड़ लगी है !

यही दिल जिस को शिकायत है गिराँ जानी की
यही दिल कार गह ए शीशा गिराँ होता है !

हाँ उन्हीं लोगों से दुनिया में शिकायत है हमें
हाँ वही लोग जो अक्सर हमें याद आए हैं !

मुसलसल हादसों से बस मुझे इतनी शिकायत है
कि ये आँसू बहाने की भी तो मोहलत नहीं देते !

अब न ग़ालिब से शिकायत है न शिकवा मीर का
बन गया मैं भी निशाना रेख़्ता के तीर का !

मोहब्बत में शिकायत कर रहा हूँ
शिकायत में मोहब्बत कर रहा हूँ !

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari for शिकायत शायरी | Shikayat Shayari

हम नीचे कुछ अन्य संबंधित शिकायत शायरी | Shikayat Shayari भेज रहे है। अभी कभी कुछ पृष्ट खाली दिखाई देंगे। उसके लिए आप हमारे संपर्क सूत्र से जुड़े, और अपडेट हेतु छोटी सी बात कहें।

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari हिंदी में पढ़ें

कुछ पेज अभी भी आपके प्रतिक्रिया और अपडेट के लिए खाली छोड़ें गए है। ताकि आपको लगे कि हम उसके लिए शिकायत शायरी | Shikayat Shayari जोड़ सकें। आपकी टिप्पणी जिस पर जिस टॉपिक पर आयेगी। हमारी टीम उसे 24 घंटे से 48 घंटे की कार्यवाही करके आपको सूचित करग

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2 Line

हमारी टीम कुछ नए चेंज और बदलाब कर रही है जिससे कुछ दिन लग सकते है। जैसे ही ये शिकायत शायरी | Shikayat Shayari के लिए कुछ अन्य को जोड़ा जाएगा तो आपको यह अतिरिक्त और भी शब्द मिलेंगे।

शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2022-23

हमारी टीम कोई लेख को अपडेट करने और शिकायत शायरी | Shikayat Shayari पोस्ट को और बढ़ने के लिए उत्सुक है। यदि आपके पास भी कोई शिकायत शायरी | Shikayat Shayari से संबंधित जानकारी है तो हमसे संपर्क कीजिए या कॉमेंट में उस जानकारी को घुसा दीजिए । टीम आपके प्रयास और अपडेट को परख के बाद जोड़ेगी। साथ ही कुछ नए टॉपिक के विचार हेतु भी आपसे साझा किया जा रहा है। वर्ष 2023 प्रारंभ होने तक हम शिकायत शायरी | Shikayat Shayari और पोस्ट कई सारे बदलाव के लिए उत्सुक है।

पढ़ने के लिए धन्यवाद,

Love Shayari | लव शायरीSad Shayari | सैड शायरी
गुड मॉर्निंग शायरीप्यार भरी शायरी
TAG: शिकायत शायरी | Shikayat Shayari In Hindi, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari हिंदी में, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari on शिकायत शायरी | Shikayat Shayari, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari for शिकायत शायरी | Shikayat Shayari, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari in english, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2 line, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 4 line, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2 लाइन, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 4 लाइन, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari of शिकायत शायरी | Shikayat Shayari, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari In Hindi, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari 2022-23, शिकायत शायरी | Shikayat Shayari by शिकायत शायरी | Shikayat Shayari. यानि की आप ऊपर बताये टेग में से कोई भी इन्टरनेट पर खोजेंगे, तो आप इस पोस्ट तक पहुच सकते हैं.