Summer Shayari | समर शायरी

समर शायरी – Summer Shayari in Hindi

In 10 Minutes, I’ll Give You The Truth About Summer Shayari. Improve(Increase) Your Summer Shayari In 3 Days. Who Else Wants To Enjoy Summer Shayari.

Could This Report Be The Definitive Answer To Your Summer Shayari?. 5 Secrets: How To Use Summer Shayari To Create A Successful Business(Product). Why My Summer Shayari Is Better Than Yours. Your Key To Success: Summer Shayari.Summer Shayari

 

जैसे तैसे रात कटी है दिन कैसे ये गुजरेगा,
लगता है ये जलता सूरज आज जमीन पर उतरेगा.

 

वो जो प्यासे है पानी की आस ढूँढ़ते है,
और जिनके पास पानी है वो प्यास ढूँढ़ते हैं.

 

धूप ने गुज़ारिश की
एक बूँद बारिश की
 

 

गर्मी जो आई घर का हवा-दान खुल गया
साहिल पे जब गया तो हर इंसान खुल गया
 

 

फिर याद बहुत आएगी ज़ुल्फ़ों की घनी शाम
जब धूप में साया कोई सर पर न मिलेगा
 

 

ये गर्मियाँ भी क्या कहर बरसाती है,
महबूब से गले मिलने का मजा छीन ले जाती हैं.