Tamanna Shayari तमन्ना शायरी हिंदी में (2022-23)

Tamanna Shayari In Hindi | तमन्ना शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Tamanna Shayari In Hindi | तमन्ना शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Tamanna Shayari तमन्ना शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Tamanna Shayari
मुझ को पाने की तमन्ना में वो गर्काब हुआ
मैं ने साहिल की तमन्ना में उसे खोया है

इश्क की तमन्ना थी इश्क की तमन्ना है
इश्क ही की राहों में मस्तियों का मेला है

कभी दर्द की तमन्ना कभी कोशिश ए मुदावा
कभी बिजलियों की ख्वाहिश कभी फिक्र ए आशियाना

Tamanna Shayari तमन्ना शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

हमें बादा कश ए दर्द ए तमन्ना
हमीं पर बंद है मय खाना दिल का

Tamanna Shayari तमन्ना शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

कमाल ए इश्क भी खाली नहीं तमन्ना से
जो है इक आह तो उस को भी है असर की तलब

ईद का चाँद जो देखा तो तमन्ना लिपटी
उन से तकरीब ए मुलाकात का रिश्ता निकला

खुद कुशी कत्ल ए अना तर्क ए तमन्ना बैराग
जिंदगी तेरे नजर आने लगे हल कितने

उन की तमन्ना मेरी कोशिश बाहम वा दे और कस्में
कुछ मेरी तकदीर के सदके बाकी सब हालात के नाम

तमन्ना दर्द ए दिल की हो तो कर खिदमत फकीरों की
नहीं मिलता ये गौहर बादशाहों के खजीनों में

ये तमन्ना नहीं अब दाद ए हुनर दे कोई
आ के मुझ को मिरे होने की खबर दे कोई

गँवाई किस की तमन्ना में जिंदगी मैं ने
वो कौन है जिसे देखा नहीं कभी मैं ने

है कहाँ तमन्ना का दूसरा कदम या रब
हम ने दश्त ए इम्काँ को एक नक्श ए पा पाया

कुछ देखने की दिल में तमन्ना नहीं बाकी
क्या अपनी भी ताकत से सिवा देख लिया है

सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है जोर कितना बाजू ए कातिल में है

अहद ए आगाज ए तमन्ना भी मुझे याद नहीं
महव ए हैरत हूँ कि इतना भी मुझे याद नहीं

दिल की तमन्ना थी मस्ती में मंजिल से भी दूर निकलते
अपना भी कोई साथी होता हम भी बहकते चलते चलते

Read Also:Jindagi Shayari 
Read Also:Gaaliyan Shayari 
Read Also:Jigar Shayari