Tanha Shayari तन्हा शायरी हिंदी में (2022-23)

Tanha Shayari In Hindi | तन्हा शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Tanha Shayari In Hindi | तन्हा शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Tanha Shayari तन्हा शायरी हिंदी में (2022-23) In Hindi

Tanha Shayari
इश्क अभी से तन्हा तन्हा
हिज्र की भी आई नहीं नौबत

बज्म से दूर वो गाता रहा तन्हा तन्हा
सो गया साज पे सर रख के सहर से पहले

चाँद तन्हा है आसमाँ तन्हा
दिल मिला है कहाँ कहाँ तन्हा

Tanha Shayari तन्हा शायरी हिंदी में (2022-23) हिंदी में

लोग हँसते हैं हमें देख के तन्हा तन्हा
आओ बैठें कहीं और उन पे हँसें हम और तुम

Tanha Shayari तन्हा शायरी हिंदी में (2022-23) 2 line

मैं तो तन्हा था मगर तुझ को भी तन्हा देखा
अपनी तस्वीर के पीछे तिरा चेहरा देखा

मेरी मानिंद खुद निगर तन्हा
ये सुराही में फूल नर्गिस का

शब कितनी बोझल बोझल है हम तन्हा तन्हा बैठे हैं
ऐसे में तुम्हारी याद आई जिस तरह कोई इल्हाम आए

दयार ए इश्क में तन्हा रहा नहीं हरगिज
खुशी ने हाथ जो छोड़ा तो गम ने थाम लिया

जिंदगी यूँ हुई बसर तन्हा
काफिला साथ और सफर तन्हा

मैं तन्हा था मैं तन्हा हूँ
तुम आओ तो क्या न आओ तो क्या

तुम्हारी बज्म से तन्हा नहीं उठा खुर्शीद
हुजूम ए दर्द का इक काफिला रिकाब में था

मैं भी शायद आप को तन्हा मिलों
अपनी तन्हाई में जा कर देखिए

मैं शाद तन्हा इक तरफ और दुनिया की दुनिया इक तरफ
सारा समुंदर इक तरफ आँसू का कतरा इक तरफ

बअ द ए फना भी खैर से तन्हा नहीं हैं हम
बंदों से छुट गए तो फरिश्तों में आ मिले

हम अहल ए कफस तन्हा भी नहीं हर रोज नसीम ए सुब्ह ए वतन
यादों से मोअत्तर आती है अश्कों से मुनव्वर जाती है

गम ओ नशात की हर रहगुजर में तन्हा हूँ
मुझे खबर है मैं अपने सफर में तन्हा हूँ

परिंद शाख पे तन्हा उदास बैठा है
उड़ान भूल गया मुद्दतों की बंदिश में

Read Also:Naraj Shayari 
Read Also:Zamana Shayari 
Read Also:Majbooriyan Shayari