तारीफ शायरी | Tareef Shayari

Tareef Shayari | तारीफ शायरी

Why Most Tareef Shayari Fail. How To Improve At Tareef Shayari In 60 Minutes. Best 50 Tips For Tareef Shayari. 3 Mistakes In Tareef Shayari That Make You Look Dumb.

52 Ways To Avoid Tareef Shayari Burnout. Here Is What You Should Do For Your Tareef Shayari. 5 Incredibly Useful Tareef Shayari Tips For Small Businesses.	 Tareef Shayari

 

तुझे पलकों पर बिठाने को जी चाहता है,
तेरी बाहों से लिपटने को जी चाहता है,
खूबसूरती की इंतेहा है तू…
तुझे ज़िन्दगी में बसाने को जी चाहता है।
खूबसूरत क्या कहा दिया उनको
हमको छोड़ कर वो शीशे की हो गयी
तराश नहीं था तो पत्थर जैसी थी
तराश दिया तो खुदा हो गयी..
तेरे नैनो की शोख अदाओं ने हमे लूटा लिया
तेरी झील सी गहरी आँखों ने हमे लूटा लिया
हम तो लूट चुके है इस कदर ऐ हसीं ख्वाब
अब डरता हूँ कहीं कोई लूट न ले मेरे ख्वाब
तेरे इशारों पर मैं नाचूं क्या जादू ये तुम्हारा है,
जब से तुमको देखा है दिल बेकाबू हमारा है,
जुल्फें तेरी बादल जैसी आँख में तेरे समंदर है,
चेहरा तेरा चाँद का टुकड़ा सारे जहाँ से प्यारा है।
वो अपने चहरे में सो आफताब रखते हैं,
इसलियें तो वो रूह पर नकाब रखते हैं,
वो पास बैठे हो तो आती हैं दिलरुबा खुशबू,
वो अपने होठो पर खिलते गुलाब रखते हैं।