Udaasi Shayari उदासी शायरी हिंदी में (2022-23)

Udaasi Shayari In Hindi | उदासी शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Udaasi Shayari In Hindi | उदासी शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Udaasi Shayari
हम किस को दिखाते शब ए फुर्कत की उदासी
सब ख्वाब में थे रात को बेदार हमीं थे

ये दिल नवाज उदासी भरी भरी पलकें
अरे इन आँखों में क्या है सुनो दिखाओ मुझे

पर्दे में खमोशी के बुर्के में उदासी के
शायद कोई आ जाए दरवाजा खुला रखना

मय कदे की ये उदासी नहीं देखी जाती
नहीं मालूम है क्या देर बहार आने में

मजा तो जब है उदासी की शाम हो शाहीं
और उस के बीच से शाम ए तरब निकल आए

उदासी कर रही है रक्स ए हिजरत
हमेशा के लिए वो जा रहा है

तेरे अंदर की उदासी के मुशाबह हूँ मैं
खाल ओ खद से नहीं आवाज से पहचान मुझे

आँख नम रुख पर उदासी दर्द भी दिल के करीब
क्या मोहब्बत आ गई है अपनी मंजिल के करीब

फूलों की ताजगी में उदासी है शाम की
साए गमों के इतने तो गहरे कभी न थे

इश्क उदासी के पैगाम तो लाता रहता है दिन रात
लेकिन हम को खुश रहने की आदत बहुत जियादा है

हल्की सी खलिश दिल में निगाहों में उदासी
शायद यूँही होती है मोहब्बत की शुरूआत

मुझ में हैं गहरी उदासी के जरासीम इस कदर
मैं तुझे भी इस मरज में मुब्तला कर जाऊँगा

उदासी का समुंदर देख लेना
मिरी आँखों में आ कर देख लेना

किसी ने फिर से लगाई सदा उदासी की
पलट के आने लगी है फजा उदासी की

पिव बिना दिल मिरा उदासी है
गाह जोगी है गाह सन्यासी है

Read Also:Armaan Shayari 
Read Also:Daulat Shayari 
Read Also:Fakiri Shayari