वर्ल्ड हार्ट डे शायरी | World Heart Day Shayari

World Heart Day Shayari In Hindi

रौशनी में कुछ कमी रह गई हो तो बता देना
ऐ सनम दिल आज भी हाजिर है जलने को….

दिल पर चोट पड़ी है तब तो आह लबों तक आई है,
यूँ ही छन से बोल उठना तो शीशे का दस्तूर नहीं….

काश की खुदा ने दिल शीशे के बनाये होते,
तोड़ने वाले के हाथों में जख्म तो आए होते….

तेरा नाम था आज अजनबी की जुबान पर,
बात जरा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया….

साला दिल तो सिने मैं होता है पर जब टूटता है,
तो दर्द पुरे जिस्म मैं होता है….

कौन कहता है कि दिल सिर्फ सीने में होता है,
तुझको लिखूँ तो मेरी उंगलियाँ भी धड़कती है….

उसके सिवा किसी और को चाहना मेरे बस में नहीं,
ये दिल उसका है, अपना होता तो बात और थी….

इश्क़ हारा है तो दिल थाम के क्यों बैठे हो,
तुम तो हर बात पर कहते थे कोई बात नहीं….

दिल लेके मुफ्त कहते हैं कुछ काम का नहीं,
उल्टी शिकायतें हुईं अहसान तो गया….

इश्तेहार दे दो कि ये दिल खाली है,
वो जो आया था किरायेदार निकला….

चलो दिल की अदला-बदली कर लें,
तड़प क्या होती है समझ जाओगे….

मेरे लबों का तबस्सुम तो सबने देख लिया,
जो दिल पे बीत रही है वो कोई क्या जाने….

कभी उदास बैठे हो तो बता देना,
हम फिर से अपना दिल देंगे खेलने के लिए….

मेरे दिल से खेल तो रहे हो तुम पर जरा सम्भल के,
ये थोडा टूटा हुआ है कहीं तुम्हे ही लग ना जाए….

मानता ही नहीं कमबख्त दिल उसे चाहने से,
मैं हाथ जोड़ता हूँ तो ये गले पड़ जाता है….

न पूछ दिल की हकीक़त मगर ये कहता है,
वो भी बेक़रार रहे जिसने बेक़रार किया….

अब जिसके जी में आये वही पाये रौशनी,
हमने तो दिल जला कर सरेआम रख दिया….

दिल टूटा है सम्भलने में कुछ वक्त तो लगेगा,
हर चीज़ इश्क़ तो नहीं कि एक पल में हो जाये….

दिल ने एक उम्मीद बरकरार रखी है ऐ दोस्तों,
कही पढ़ लिया था कि सच्ची मोहब्बत लौटकर आती है….

दिल पर हम बेवज़ह इल्ज़ाम लगाते हैं,
धोखा तो अक्सर धड़कन दिया करती है….

पत्थर तो बहुत मारे थे लोगो ने मुझे,
लेकिन जो दिल पर आ के लगा वो किसी अपने ने मारा था….