Yarana Shayari याराना शायरी हिंदी में (2022-23)

Yarana Shayari In Hindi | याराना शायरी हिंदी में

* Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.Yarana Shayari In Hindi | याराना शायरी हिंदी में * Shayari In Hindi (* हिंदी में) सम्बंधित हर शायरी पोस्ट के अन्दर है.

Yarana Shayari
तअल्लुकात का तन्कीद से है याराना
किसी का जिक्र करे कौन एहतिसाब के साथ

सुब्ह को खुल जाएगा दोनों में क्या याराना है
शम्अ परवाना की है या शम्अ का परवाना है

गो जरा सी बात पर बरसों के याराने गए
लेकिन इतना तो हुआ कुछ लोग पहचाने गए

यरान ए बे बिसात कि हर बाजी ए हयात
खेले बगैर हार गए मात हो गई

यारान ए बज्म दहर में क्या क्या तपाक था
लेकिन जब उठ गए तो न बार ए दिगर मिले

मंजिल जिसे समझते थे यारान ए काफिला
पहुँचे जो उस जगह तो फकत संग ए मील था

यही तो कुफ्र है यारान ए बे खुदी के हुजूर
जो कुफ्र ओ दीं का मिरे यार इम्तियाज रहा

यारान ए तेज गाम ने महमिल को जा लिया
हम महव ए नाला ए जरस ए कारवां रहे

यारान ए सुखन गो की है वो कंपनी अपनी
नित जिस की सलामी है फरासीस की टोपी

न हुआ पर न हुआ मीर का अंदाज नसीब
जौक यारों ने बहुत जोर गजल में मारा

नहीं खेल ऐ दाग यारों से कह दो
कि आती है उर्दू जबाँ आते आते

बज्म ए याराँ है ये साकी मय नहीं तो गम न कर
कितने हैं जो मय कदा बर दोश हैं यारों के बीच

यारों ने मेरी राह में दीवार खींच कर
मशहूर कर दिया कि मुझे साया चाहिए

वहशत सुखन ओ लुत्फ ए सुखन और ही शय है
दीवान में यारों के तो अशआर बहुत हैं

क्या तअज्जुब है जो यारों ने रिफाकत छोड़ी
बैठता कौन है गिरती हुई दीवार के पास

जल उठें यादों की कंदीलें, सदाएँ डूब जाएँ
दर हकीकत खामुशी सहरा भी है दरिया भी है

Read Also:Gulaab Shayari 
Read Also:Badshahi Shayari 
Read Also:Garmi Shayari